यूरोप के कई हिस्सों में भयानक लू और गर्मी, अलर्ट जारी

इस वक्त यूरोप के कई हिस्सों में भयानक लू चल रही है और गर्मी भी काफी तेज है। स्पेन में चढ़ते तापमान का असर भी नजर आने लगा है और 10000 एकड़ की जंगल में आग लग गई है। इटली के 16 शहरों में काफी गर्मी को देखकर अलर्ट जारी किया गया है। फ्रांस के कई हिस्सों में गर्मी के कारण स्कूल बंद कर दिए गए हैं।
पैरिस, मैड्रिड इस वक्त भारत ही नहीं यूरोपीय देश भी गर्मी की मार झेल रहे हैं। फ्रांस, इटली, जर्मनी, स्विट्जरलैंड में गर्मी का कहर इस कदर है कि लोग पूल और ठंडी जगहों पर पनाह मांग रहे हैं। स्पेन में चढ़ते तापमान का असर 10,000 एकड़ की जंगलों में लगी आग के तौर पर देखने को मिल रहा है। यूरोप में गर्मी के कारण हजारों स्कूल बंद कर दिए गए हैं और कई आउटडोर ऐक्टिविटी पूरी तरह से बंद है।
गर्मी और लू का कहर इस कदर है कि यूरोप के कई हिस्सों में स्कूल-कॉलेज बंद कर दिए गए हैं। इसके साथ ही कई हिस्सों में लू का भी प्रकोप है। कई सहयोगी संगठन गर्मी के कारण मदद के लिए फ्रांस और दूसरे यूरोपीय देशों में ओल्ड ऐज होम में लोगों की मदद करने के लिए पहुंच रहे हैं। बहुत से लोगों की मौत गर्मी के कारण हो रही है और सरकारी बयानों में भी मौसम के कारण होनेवाली मौत करार दिया गया है।
फ्रांस में रेकॉर्ड तापमान, 45 डिग्री से अधिक पहुंचा पारा
स्पेन के 10 हजार एकड़ में फैले जंगलों में तापमान अधिक होने के कारण आग लग गई। कई देशों में तापमान 45 डिग्री से भी अधिक दर्ज किया गया। फ्रांस में शुक्रवार को तापमान रेकॉर्ड 45.9°C दर्ज किया गया। फ्रेंच मीडिया के अनुसार यह अभी तक का रेकॉर्ड अधिकतम तापमान है। फ्रेंच नैशनल मौसम विभाग ने अब तक के सर्वाधिक तापमान को देखते हुए डेंजर अलर्ट जारी किया है। सुरक्षित स्थिति नहीं देखने के कारण 4000 स्कूलों को बंद कर दिया गया है।
प्रशासन शरणार्थियों को दे रहा पानी की बोतल
तापमान और गर्मी को देखते हुए प्रशासन ने कई सांस्कृतिक कार्यक्रमों को रद्द कर दिया और कई खेल प्रतियोगिताएं भी स्थगित कर दी गई हैं। स्कूल ईयर खत्म होने के मौके पर फ्रांस में हर साल कार्निवाल का आयोजन किया जाता है। सिटी हॉल की तरफ से कार्यकर्ताओं को ओल्ड एज होम में भेजा जा रहा है कि उनके लिए पर्याप्त पंखा और पानी की व्यवस्था देखी जा सके।
शरणार्थियों के लिए बांटे जा रहे पानी के बोतल
पैरिस के उप-शहरी इलाके सेंट डेनिस में आर्मी सेंटर है और यहां शरणार्थियों को रहने का इंतजाम किया गया है। शहर की गलियों में स्ट्रीट शॉवर का इंतजाम किया जा रहा है और समय-समय पर शरणार्थियों के बीच पानी की बोतलें भी बंटवाई जा रही हैं। फ्रेंच पीएम एदोअर्द फिलिप ने मीडिया से कहा, ‘इस बार जैसी लू चल रही है वैसा पहले कभी नहीं हुआ। इसकी तीव्रता को देखते हुए हमने नागरिकों के लिए अलर्ट जारी कर दिया है।’
इटली में 3 लोगों की मौत लू लगने के कारण
इटली के 16 शहरों में भी लू को देखते हुए हाई अलर्ट जारी किया गया है। रोम और आसपास के इलाकों में घूमने आए पर्यटकों के लिए सुरक्षा एजेंसियों ने खास तौर पर पानी की बोतलें बंटवाई हैं। इटली के उत्तरी और मध्य हिस्से में लू चलने के कारण अब तक 3 लोगों की मौत हो चुकी है। इटली के प्रमुख शहर मिलान में गर्मी के कारण होनेवाली बीमारियों के कारण आपातकाल में आनेवाले मरीजों की संख्या में 35% तक का इजाफा हुआ है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *