नियंत्रण रेखा पर लगातार गोलाबारी से तनाव का माहौल

जम्‍मू। जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा से सटे नौशेरा सेक्टर में पाकिस्तानी सेना के जवानों ने शुक्रवार को एक बार फिर गोलाबारी की है। पूर्व में पाकिस्तान ने गुरुवार शाम भी पुंछ जिले में एलओसी के दो इलाकों में फायरिंग की थी। एलओसी से सटे कई इलाकों में पाकिस्तान बीते 8 दिनों से रुक-रुककर गोलाबारी कर रहा है, जिसके कारण यहां तनावपूर्ण हालात बने हुए हैं।
मिली जानकारी के अनुसार पाकिस्तान ने शुक्रवार को भी नौशेरा सेक्टर में सेना की पोस्टों के पास मोर्टार दागे थे, जिसके बाद भारतीय जवानों ने पाकिस्तान की हरकत का मुहतोड़ जवाब दिया। इसके अलावा एलओसी से सटे कई संवेदनशील इलाकों में गोलाबारी की आड़ में किसी आतंकी घुसपैठ की आशंका को देखते हुए सेना ने सभी जवानों को पूरी तरह से अलर्ट रहने के भी निर्देश दिए।
पाकिस्तान ने इस बार फिर नियंत्रण रेखा पर सेना की फॉरवर्ड पोस्ट समेत तमाम रिहाइशी इलाकों में गोलाबारी की है। हालांकि संघर्ष विराम उल्लंघन की इस घटना में अब तक किसी के भी घायल होने की सूचना नहीं है। पूर्व में पाकिस्तान की ओर से राजौरी और पुंछ जिले में हुई गोलाबारी के दौरान नियंत्रण रेखा पर तैनात बीएसएफ के एक शहीद हो गए थे। इसके अलावा पाकिस्तानी गोलाबारी में एक बच्ची की भी मौत हुई थी।
पाकिस्तान ने की थी हवाई घुसपैठ की कोशिश
पाकिस्तान की ओर से नियंत्रण रेखा पर जारी गोलाबारी के दौरान ही पंजाब के खेमकरण में हवाई मार्ग से घुसपैठ की कोशिश भी की गई थी। पाकिस्तानी वायुसेना के 4 एफ-16 विमानों और एक यूएवी (ड्रोन) को सोमवार सुबह करीब 3 बजे खेमकरण सेक्टर से लगी अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास ट्रेस किया गया था। रेडार पर पाकिस्तानी विमानों की एयर ऐक्टिविटी का पता चलने के फौरन बाद सुरक्षा अधिकारियों ने एयरफोर्स को अलर्ट किया था, जिसके बाद वायुसेना ने पाकिस्तानी विमानों से खतरे को भांपते हुए तत्काल अपने सुखोई और मिराज विमानों को जवाबी ऐक्शन के लिए लगाया। भारतीय वायुसेना की इस सख्त घेराबंदी के कारण पाकिस्तानी जेट्स को भागने पर मजबूर होना पड़ा ।
भारतीय सेना ने उड़ाई थीं पाक की सात पोस्ट
बता दें कि पाकिस्तानी सेना के जवान बीते हफ्ते से ही पुंछ और राजौरी जिले से सटी नियंत्रण रेखा के इलाकों में भारी गोलाबारी कर रहे हैं। पूर्व में सीजफायर उल्लंघन की घटना का जवाब देते हुए भारतीय सेना ने पाकिस्तान की 7 पोस्टों को उड़ा दिया था। इस कार्रवाई में पाकिस्तान के कई सैनिक भी मारे गए थे। हालांकि भारत की विध्वंसक जवाबी कार्यवाही के बावजूद पाकिस्तान ने कई अन्य इलाकों में गोलाबारी की थी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »