तेंदुलकर और कांबली के कोच रहे रमाकांत आचरेकर का निधन

मुंबई। सचिन तेंदुलकर और विनोद कांबली जैसे दिग्‍गज खिलाड़ियों को क्रिकेट का ककहरा सिखाने वाले कोच रमाकांत आचरेकर का मुंबई में निधन हो गया। वो 87 वर्ष के थे। आचरेकर पिछले कई सालों से बीमार चल रहे थे। लंबी बामारी के बाद उनका निधन हुआ। उन्होंने बुधवार शाम 6 बजकर 30 मिनट पर अपने आवास पर अंतिम सांस ली।
आचरेकर ने केवल सचिन तेंदुलकर के अलावा भारत को विनोद कांबली, चंद्रकांत पंडित, प्रवीण आमरे, अजीत आगरकर, रमेश पोवार और समीर दीघे जैसे कई टेस्ट क्रिकेटर दिए। नब्बे के दशक में एक वक्त ऐसा भी था जब टीम इंडिया में उनके तीन शिष्य सचिन तेंदुलकर, विनोद कांबली और प्रवीण आमरे एक साथ खेल रहे थे।
शिवाजी पार्क के मैदान पर उन्होंने सैकड़ों युवाओं को क्रिकेट का ककहरा सिखाया। वो मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन के चयनकर्ता भी रहे थे।1932 में जन्में आचरेकर का बतौर खिलाड़ी उनका करियर उतना विख्यात नहीं रहा। क्रिकेट में दुनियाभर में उन्होंने प्रसिद्धि कोच के रूप में हासिल की खासकर क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर के कोच के रूप में जिनकी देखरेख में सचिन ने बल्लेबाजी के अधिकांश रिकॉर्ड अपने नाम किए।
1945 में आचरेकर ने मुंबई के न्यू हिंद क्रिकेट क्लब की ओर से खेलना शुरू किया। वो यंग महाराष्ट्र इलेवन, गुलमोहर मिल्स और मुंबई पोर्ट्स की तरफ से भी क्रिकेट खेले थे। क्रिकेट करियर में आचरेकर केवल एक प्रथम श्रेणी मैच खेल सके थे। उन्होंने साल 1963-64 में मोइन उद्दौला कप के दौरान ऑल इंडिया स्टेट बैंक और हैदराबाद के बीच खेले गुए मुकाबले में शिरकत की थी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »