आम्रपाली और सुपरटेक बिल्‍डर्स के खिलाफ दस केस दर्ज

नोएडा। नोएडा पुलिस ने फ्लैट खरीदारों के साथ धोखाधड़ी करके करोड़ों रुपये की हेराफेरी करने वाले बिल्डर्स के खिलाफ मामला दर्ज करना शुरू कर दिया है। बीती रात को नोएडा के छह थाना क्षेत्रों में 13 प्रॉजेक्ट के डायरेक्टर्स के खिलाफ मामला दर्ज हुआ है। इसमें से नौ मामले तो सिर्फ आम्रपाली बिल्डर के खिलाफ हैं। एक मामला सुपरटेक बिल्डर के खिलाफ, जबकि तीन मामले अन्य बिल्डर के खिलाफ हैं।
नोएडा एसएसपी के पीआरओ प्रभात दीक्षित ने बताया कि 31 अगस्त को ग्रेटर नोएडा आए मंत्रियों के समूह के सामने सैकड़ों की संख्या में फ्लैट खरीदारों ने अपनी समस्या रखी थी। खरीदारों ने मांग की थी कि उनके साथ धोखाधड़ी करके उनके पैसे पर ऐश करने वाले बिल्डरों के खिलाफ मामला दर्ज किया जाए। बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर प्रदेश के तीन मंत्रियों की एक कमेटी 30 और 31 अगस्त को नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेस वे के बिल्डर्स और बायर्स से मिली थी। मंत्रियों के इस समूह में सुरेश खन्ना, सुरेश राणा और सतीश महाना शामिल थे।
कमेटी ने पुलिस को इस मामले में मामला दर्ज करने के लिए कहा था। पीआरओ ने बताया कि फ्लैट खरीदारों की शिकायत के आधार पर आम्रपाली बिल्डर के खिलाफ थाना बिसरख में 8 मामले दर्ज हुए हैं। थाना सेक्टर-49 में भी आम्रपाली सिलिकॉन सिटी के खरीदारों की शिकायत पर मामला दर्ज हुआ है। इन मामलों में आम्रपाली बिल्डर के निदेशक अनिल शर्मा और अन्य डायरेक्टरों का नाम आरोपियों में हैं जबकि थाना बिसरख में सुपरटेक बिल्डर के इको विलेज टू के इन्वेस्टर्स की शिकायत पर मामला दर्ज हुआ है। वहीं थाना सूरजपुर में एकदंत वेलफेयर सोसाइटी, थाना कासना में टेक्नो सिटी अपार्टमेंट, थाना एक्सप्रेसवे में टुडे होम्स और थाना फेस-3 में द पार्क एवेन्यू नामक बिल्डर के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ है। पीआरओ ने बताया कि पुलिस घटना की रिपोर्ट दर्ज करके मामले की जांच कर रही है।
-एजेंसी