कुलदीप यादव के रूप में मिला ‘चाइनामैन’ गेंदबाज

kuldeep-yadav
कुलदीप यादव के रूप में मिला ‘चाइनामैन’ गेंदबाज

कुलदीप यादव के रूप में टीम इंडिया को ‘चाइनामैन’ गेंदबाज मिल गया है। लंबे समय से टीम इंडिया को एक ‘चाइनामैन’ गेंदबाज की तलाश थी, धर्मशाला टेस्ट मैच में ये कमी पूरी होती नजर आ रही है। कप्तान विराट कोहली की जगह टीम इंडिया में शामिल किए गए कुलदीप यादव भारतीय क्रिकेट के पहले चाइनामैन गेंदबाज हैं। धर्मशाला टेस्ट में लंच ब्रेक के बाद कुलदीप अभी तक तीन विकेट झटक चुके हैं।

वो शानदार गेंदबाजी कर रहे हैं। डेविड वॉर्नर को स्लिप में कैच कराने के बाद कुलदीप पीटर हैंड्सकॉम्ब और ग्लेन मैक्सवेल को क्लीन बोल्ड कर चुके हैं। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में मुंबई इंडियंस और कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के लिए खेल चुके स्पिन गेंदबाज कुलदीप का प्लेइंग इलेवन में शामिल होना किसी सरप्राइज से कम नहीं था। विराट की जगह श्रेयस अय्यर को कवर के तौर पर बुलाया गया था लेकिन मैच से पहले कुलदीप को टेस्ट कैप पहनाई गई।

2014 में वेस्टइंडीज के खिलाफ होने वाली घरेलू वनडे सीरीज के पहले तीन मैचों के लिए कुलदीप को 14 सदस्यीय टीम में जगह दे दी गई थी, हालांकि उन्हें एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला था। अंडर-19 वर्ल्ड कप के बाद कुलदीप ने 2014 चैंपियंस लीग में शानदार प्रदर्शन किया था। चैंपियंस लीग के फाइनल में केकेआर को पहुंचाने में इस गेंदबाज ने अहम भूमिका निभाई थी।

कुलदीप के लिए सुनील गावस्कर ने तो यहां तक कह डाला था कि अगर मैं चयनकर्ता होता तो बिना एक भी फर्स्ट क्लास मैच खेले ही इसे टेस्ट टीम में चुन लेता। गावस्कर ही हैं जिन्होंने बहुत कम उम्र में सचिन तेंदुलकर की प्रतिभा को भी पहचाना था।
कुलदीप ने अभी तक कुल 27 टी-20 मैच खेले हैं, जिनमें उनका इकॉनमी रेट 7.10 रहा है और उनके खाते में 18.94 की औसत से 37 विकेट भी हैं। 2014 में अंडर-19 टीम के लिए ऑस्ट्रेलिया गए कुलदीप जब भारत लौटे तो वो मुंबई इंडियंस टीम से जुड़े। नेट सेशन के दौरान तेंदुलकर ने किसी से कहा कि नए लड़के कुलदीप को भेजो, मैं देखना चाहता हूं कि वो कैसी गेंदबाजी करता है? कुलदीप ने पहली पांच गेंदे तो नॉर्मल चाइनामैन डिलीवरी फेंकी लेकिन छठी गेंद पर जो हुआ वो देखकर ये दोनों ही खिलाड़ी हैरान रह गए। कुलदीप की गेंद पर तेंदुलकर का मिडिल स्टंप उखड़ गया। तेंदुलकर ने इस बल्लेबाज से जाकर कहा- ‘वेल बॉल्ड कुलदीप।’ एक इंटरव्यू में कुलदीप ने ये बात खुद बताई थी।

कुलदीप बता चुके हैं कि वो शेन वॉर्न जैसे गेंदबाज बनना चाहते हैं। 22 फर्स्ट क्लास मैचों में कुलदीप ने 3.77 इकॉनमी रेट और 33.11 के औसत से 81 विकेट झटके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *