टाटा ने कहा, कोरोना संकट में ही छिपे हैं उद्यमियों के लिए अवसर

नई दिल्‍ली। दिग्गज उद्योगपति रतन टाटा ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस महामारी उद्यमियों को आने वाले कल से नए या बदले हुए उद्यमों को सक्षम करने, बनाने और खोजने के लिए प्रेरित करेगी। उन्होंने कहा कि इसमें अवसर भी छिपे हैं।
सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम पर लिखी एक पोस्ट में उन्होंने कहा कि कोरोना का यह संकट उद्योग जगत को नई तकनीक अपनाने और नई चीजों के सृजन के लिए प्रेरित करेगा। उन्होंने उम्मीद जताया कि कंपनियां अब अच्छे तरीके से संचालित होंगी। टाटा ने लिखा कि आत्रप्रेन्योर्स ने पहले भी बुरे समय में दूरदर्शिता दिखाई और ऐसी चीजें तैयार की हैं, जिनके बारे में सोचा भी नहीं जा सकता था। उन्होंने कहा कि आज वे चीजें बेहद जरूरी हैं और आज नई तकनीक के नाम से जानी जाती हैं।
उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि उत्पाद बनाने, कंपनी चलाने, संचालन को बेहतर तरीके से चलाने का एक और तरीका खोजने की क्षमता, मौजूदा संकट के परिणाम के रूप में सामने आएगी।
गौरतलब है कि रतन टाटा 1991 से 28 दिसंबर 2012 तक टाटा संस के चेयरमैन रह चुके हैं। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि वह कोरोना के चलते कंपनियों के सामने पैदा हुए संकट को कम नहीं आंक रहे हैं और यह मुश्किल समय है। लेकिन उन्हें भविष्य में प्रयोग को लेकर आत्मविश्वास जताया और कहा कि आंत्रप्रेन्योर्स की ओर से आज के दौर में जो आविष्कार किए जाएंगे, वे भविष्य में एक बेंचमार्क होंगे।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *