वॉट्सएप से सेक्स रैकेट चलाने वाली ‘तारा आंटी’ गिरफ्तार

tara aunti' arrested for running sex racket from Whatsapp
वॉट्सएप से सेक्स रैकेट चलाने वाली ‘तारा आंटी’ गिरफ्तार

गाजियाबाद। वॉट्सएप पर सेक्स रैकेट चलाने वाली महिला को गिरफ्तार किया गया है। साहिबाबाद पुलिस ने आरोपी महिला के खिलाफ एक नाबालिग लड़की से गैंगरेप में भी मामला दर्ज किया है।

कल गुरुवार की देर रात को 45 वर्षीय महिला और उसके तीन पुरुष साथियों गिरफ्तार किया। इन पर आरोप था कि ये लोग कथिततौर पर सोशल मीडिया के सहारे ग्राहक ढूढ़ते थे और गोरखधंधे को अंजाम दे रहे थे।

पुलिस ने बताया कि यह काम दिल्ली के शालिमार गार्डन में स्थित एक फ्लैट से चलाया जा रहा था। ये लोग मैसेजिंग एप वॉट्सएप पर फ्रैंडशिप क्लब बनाए हुए थे और पिछले तीन साल से इस काली करतूत को अंजाम दे रहे थे।

पुलिस ने बताया कि तारा उर्फ मंजू को राजीव सेठी व दो अन्य के साथ अशोक विहार इलाके से गिरफ्तार किया गया। तारा और सेठी शालीमार गार्डेन के फ्लैट में ही रहते थे।
उत्तराखंड की 16 साल की लड़की से कथिततौर पर गैंगरेप की शिकायत मिली थी। शिकायत में तारा आंटी को मुख्य आरोपी बनाया  गया था जिसके बाद से पुलिस को आशंका थी कि इस रैकेट की सरगना तारा आंटी हो सकती है। लेकिन जबसे नाबालिग की शिकायत मिली थी तब से तारा आंटी शालीमार गार्डेन हटकर गाजियाबाद आ गई थी और यहीं से इस धंधे को अंजाम दे रही थी।

बताया जा रहा है कि वह सोशल मीडिया से गाजियाबाद और दिल्ली के स्थानीय महिलाओं को इस काम के लिए राजी करती थी। फिर उनके साथ मिलकर कई वॉट्सएप ग्रुप बनाकर ग्राहक फंसाती थी।

ग्राहक मिलने के बाद वह महिलाओं और युवतियों से बातकर डील  तय करती थी। वैसे तो तारा और राजीव सेठी वॉअर सप्लाई का काम करते थे लेकिन वह दिल्ली एरिया, गाजियाबाद एरिया नाम के जैसे कई ग्रुप बना रखे थे जिससे कि धंधे को ज्यादा से लोगों तक पहुंचाया जा सके।

तारा आंटी कितनी शातिर थी पुलिस को इस बाद का भी सबूत मिला है। पुलिस ने बताया कि ग्रुप के सभी सदस्य फर्जी आईडी और फर्जी तस्वीर से जुड़े हुए थे। और पुलिस को इस बात की जानकारी मिली तो तारा आंटी पर संदेह और गहरा गया। इन ग्रुपों में कुछ यौनकर्मी जुड़ी थीं तो कुछ अपनी इच्छा से सेवा देने वाली महिलाएं शामिल थीं।

पुलिस को पूछताछ में पता चला है कि तारा आंटी ग्राहक से मिलने  वाली रकम का 50 फीसदी खुद लेती थी और बाकी सेवा देने वाली महिला या युवती को देती थी। पुलिस के मुताबिक एक कस्टुमर से 10 हजार रुपए से  लेकर 25 हजार रुपए तक लेती थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *