राहुल गांधी के अध्‍यक्ष पद पर उंगली उठाने वाला टेप लीक, शहजाद और मनीष के बीच बातचीत

नई दिल्ली। राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। पार्टी के तमाम दिग्गज नेताओं का कहना है कि कांग्रेस में अध्यक्ष का चुनाव लोकतांत्रिक ढंग से होता है और कोई भी नेता इसके राहुल या किसी अन्य नेता के मुकाबले अध्यक्ष पद के लिए चुनाव लड़ सकता है लेकिन इस बीच कुछ टीवी चैनल्‍स को ऐसे कई ऑडियो टेप मिले हैं, जिनसे यह खुलासा होता है कि कांग्रेस में अध्यक्ष के चुनाव की प्रक्रिया सिर्फ औपचारिकता मात्र है। हालांकि इन ऑडियो टेप्स की पुष्टि नहीं की जा सकती। इन टेप्स में सीनियर नेता यह स्वीकार करते दिख रहे हैं कि कांग्रेस में सिर्फ एक परिवार से ही कोई व्यक्ति अध्यक्ष बन सकता है। कहा जा रहा है कि इन ऑडियो टेप्स को कांग्रेस के भरोसेमंद ने ही लीक कराया है।
इन टेपों से कांग्रेस पार्टी के उन दावों पर सवाल खड़े होते हैं, जिनमें कहा गया है कि अध्यक्ष पद पर चुनाव की प्रक्रिया निष्पक्ष है। ऐसे ही एक टेप में महाराष्ट्र कांग्रेस के सचिव शहजाद पूनावाला और पूर्व केंद्रीय मंत्री मनीष तिवारी की बातचीत करते दिख रहे हैं, जिसमें राहुल की कांग्रेस अध्यक्ष के तौर पर चयन की प्रक्रिया पर सवाल खड़े किए गए हैं।
दोनों के बीच हुई पूरी बातचीत कुछ इस तरह है-
पूनावाला: मैंने कभी किसी प्रतनिधि के चुनाव के लिए एक भी सीक्रेट बैलट नहीं देखा है। इन्हें प्रदेश अध्यक्ष के द्वारा चुना जाता है और प्रदेश अध्यक्ष को राष्ट्रीय अध्यक्ष नियुक्त करता है।
तिवारी: शहजाद, आपने यह सब कैसे सोच लिया? क्योंकि पार्टी में पदाधिकारियों की नियुक्ति एकतरफा ही होती है।
पूनावाला: हां, लेकिन यह बहुत दिन नहीं चल सकता। मैं कोई पद नहीं चाहता और नहीं मुझे किसी पार्टी से कोई टिकट चाहिए। सवाल यह है कि आखिर कैसे कोई परिवार लगातार राज कर सकता है या अपनी काबिलियत को नजरअंदाज कर हमें एक परिवार की विरासत को ढोना होगा?
तिवारी: आदर्शवादी बातों में मत पड़ो। हकीकत यह है कि कांग्रेस एक संपत्ति है। यह कोई राजनीतिक दल नहीं हैं और भारत में कोई भी पार्टी राजनीतिक दल नहीं हैं। ये सभी संपत्तियां हैं। यह सुधारों की दूसरी लहर है, जो कांग्रेस के लिए बहुत जरूरी है। अगर तुम पहली पंक्ति में आना चाहते हो तो इन सब बातों को पीछे छोड़ना होगा।
शहजाद के सवालों से सहमत हैं पार्टी के कई नेता
इन टेपों के बारे में पूछे जाने पर मनीष तिवारी ने कहा कि वह टीवी पर ऐसे किसी प्रोग्राम के बारे में नहीं जानते। शहजाद पूनावाला की ओर से राहुल गांधी को खुला पत्र लिखकर उठाए गए सवालों के बाद से भले ही कांग्रेस ने उनसे दूरी बना ली है लेकिन पार्टी में ऐसे तमाम लोग हैं, जो शहजाद के सवालों से सहमति जताते हैं।
आचार्य प्रमोद कृष्णन का भी टेप आया सामने
एक अन्य टेप में कांग्रेस से जुड़े आचार्य प्रमोद कृष्णन कहते हैं कि पार्टी के सभी आंतरिक चुनाव फर्जी हैं। उन्होंने कहा, ‘मैं इस बात से पूरी तरह सहमत हूं कि यह 100 फीसदी सलेक्शन हैं, इलेक्शन नहीं है। यदि ऐसा ही चलता रहा तो कांग्रेस प्राइवेट लिमिटेड कंपनी बन जाएगी।’
-एजेंसी