पंजशीर पर कथित कब्‍जे के बाद तालिबान बोला, कश्मीर भारत और पाक का मसला

काबुल। कई दिनों के संघर्ष के बाद अफगानिस्तान के आखिरी प्रांत पंजशीर पर भी तालिबान ने कब्जे का दावा किया है। अब तक पंजशीर में विद्रोही बल अमरुल्लाह सालेह और अहमद मसूद के नेतृत्व में लड़ रहे थे। तालिबान ने सोमवार को पंजशीर के साथ पूरे अफगानिस्तान पर कब्जे का दावा किया। तस्वीरों और वीडियो में तालिबान के लड़ाके पंजशीर के गवर्नर हाउस के सामने तालिबानी झंडा फहराते हुए नजर आए। इस बीच विद्रोही नेशनल रेजिस्‍टेंस फोर्स ने तालिबान के दावे को गलत बताया है और कहा है कि अभी जंग जारी है।
अफगान आवाम बहुत खुश और शांत
पंजशीर पर कब्जे के बाद तालिबान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने इंडिया टुडे से बात करके हुए कहा कि पूरा अफगानिस्तान हमारे कंट्रोल में है और पूरे देश में आजादी लौट चुकी है। प्रवक्ता ने कहा कि अफगान आवाम बहुत खुश और शांत है। पंजशीर को लेकर उन्होंने दावा किया कि अब पंजशीर प्रांत भी हमारे नियंत्रण में है। जल्द ही वहां भी दूसरे इलाकों की तरह शांति स्थापित हो जाएगी। शाहीन ने कहा कि 20 साल की लड़ाई अब जीत ली गई है।
कश्मीर को बातचीत से सुलझाएं
तालिबान शासन को प्रवक्ता ने अफगान आवाम की सरकार बताया और कहा कि हमें उम्मीद है कि हम जनता की जरूरतों को पूरा करेंगे। कश्मीर पर तालिबान का रुख स्पष्ट करते हुए शाहीन ने कहा कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान के बीच का मसला है। दोनों देश आपसी बातचीत से इस मसले को सुलझाएं। उन्होंने कहा कि तालिबान किसी को भी अफगानिस्तान की जमीन का इस्तेमाल किसी के खिलाफ करने नहीं देगा।
पाकिस्तानी सेना लड़ रही जंग
इस बीच पंजशीर में विद्र‍ोहियों के नेता अहमद मसूद सुरक्षित स्‍थान पर चले गए हैं। उन्‍होंने कहा है कि तालिबानी उनसे नहीं लड़ रहे हैं, बल्कि पाकिस्‍तानी सेना और आईएसआई यह जंग लड़ रहे हैं। बताया जा रहा है कि तालिबानी आतंकियों कई दिनों से चल रही घेरेबंदी के बाद रविवार रात को जोरदार हमला किया और पंजशीर के विद्रोहियों के किले को भी ध्‍वस्‍त कर दिया। इस तालिबानी-पाकिस्‍तानी हमले में ताजिक मूल के विद्रोही नेता अहमद मसूद को बड़ा झटका लगा है और उनके प्रवक्‍ता फहीम दश्‍ती और शीर्ष कमांडर जनरल साहिब अब्‍दुल वदूद झोर की मौत हो गई।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *