इम्यून‍िटी के ल‍िए करें पंचामृत का न‍ियम‍ित सेवन, कोरोना से लड़ने में म‍िलेगी मदद

सनातन धर्म में ईश्वर की आराधना के बहाने हमारे स्वास्थ्य को बनाए रखने के क‍िस तरह से अनेक साधन बताए गए हैं, यह जानकर आश्चर्य होता है क‍ि आख‍िर ये कैसे जाना गया क‍ि संक्रमण से बचाव को पंचामृत आवश्यक है। आज हम पूजा के दौरान भगवान को भोग प्रसाद लगाते हैं, प्रसाद के रूप में पंचामृत अत्यंत आवश्यक होता है। ऐसा क्यों … पंचामृत ही क्यों .. तो आइये जानते हैं क‍ि पंचामृत ही क्यों आवश्यक होता है।

आयुर्वेद के अनुसार, पंचामृत पीने से संक्रमण से बचाव होता है। पंचामृत का अर्थ है पांच अमृत, जो पांच पवित्र वस्तुओं से बना है। यह मिश्रण दूध, दही, घी, चीनी और शहद को मिलाकर बनाया गया पेय है, जिसे देवताओं का भोजन कहा जाता है।

प्रसाद के रूप में भी इसका बहुत महत्व है। इसके साथ ही भगवान का अभिषेक भी किया जाता है। पीते समय, यह व्यक्ति के भीतर सकारात्मक भावनाओं को पैदा करता है।

पंचामृत क्या है? (What Is Panchamrit)
पंचामृत यानी पांच अमृत। यह पांच चीजों को मिलाकर बनाया जाता है। इसमें गाय का दूध, घी, चीनी, दही और शहद मिलाया जाता है। इन पांचों सामग्री को एक साथ मिलाकर पंचामृत बनाया जाता है। कुछ लोग इसमें तुलसी का पत्ता भी डालते हैं, ताकि फ्लेवर और सुगंध बढ़ जाए। पूजा के दौरान भगवान को इससे भोग लगाया जाता है। पूजा समाप्त होने के बाद इसे हर कोई प्रसाद के तौर पर ग्रहण करता है। कहते हैं, पंचामृत शरीर के अंदर पॉजिटिव एनर्जी उत्पन्न करता है। आयुर्वेद में भी पंचामृत को शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने वाला एक स्वस्थ पेय पदार्थ बताते हैं।

पंचामृत से होने वाले सेहत लाभ (Panchamrit Health Benefits)
जिन लोगों की इम्यूनिटी पावर कमजोर (Panchamrit boosts immunity) होती है, उन्हें इसका सेवन हर दिन थोड़ा-थोड़ा करना चाहिए।
संक्रामक रोगों से बचाता है पंचामृत
पंचामृत में दूध और दही होते है, जो कैल्शियम से भरपूर होता है। इससे हड्डियों को मजबूती मिलती है।
आयुर्वेद में कहा गया है कि पंचामृत, शीतल, बलवर्धक, पाचक, कफनाशक होने के साथ ही काफी पौष्टिक भी होता है।
जिन लोगों को भूख कम लगती है, उन्हें पंचामृत पीना चाहिए। (Panchamrit Health Benefits in Hindi)
दिमाग को शांत रखना है, तो पंचामृत पिएं। इसके सेवन से गुस्सा भी कम आता है।
पंचामृत में तुलसी की पत्तियां होती हैं और ये पत्तियां कई रोगों से बचाती हैं।
त्वचा संबंधित समस्याएं भी कम होंगी। (Panchamrit Benefits in Hindi)
शरीर रोगमुक्त और स्वस्थ (panchamrit ke fayde) रहता है। पंचामृत का सेवन कम ही करें ना कि एक गिलास पी लें।
इसमें तुलसी डालने से इसके गुण और भी बढ़ जाते हैं। तुलसी में मौजूद तत्व दिल के रोगों, कैंसर, डायबिटिज, कब्ज, ब्लड प्रेशर की समस्या से बचाते हैं।

– Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *