कुछ बातों का ध्यान रखें तो आप भी बन सकते हैं परफेक्ट हैप्‍पी कपल

अगर आप सोचते हैं कि शादी के बाद हर कपल के लाइफ में प्रॉब्लम्स होती ही हैं और हैप्‍पी कपल का कॉन्सेप्ट पूरी तरह से मिथक है तो आप गलत हैं। अगर आप भी कुछ बातों का ध्यान रखना शुरू कर दें तो आप भी बन सकते हैं परफेक्ट हैप्‍पी कपल।
दो लोग हमेशा ही किसी बात पर सहमत हों ऐसा जरूरी नहीं है। उनके बीच किसी बात पर विवाद, बहस या झगड़ा होना लाजिमी है लेकिन जब आप शादीशुदा कपल हैं तो बात-बात में झगड़ा करने से आपके रिश्ते पर बुरा असर पड़ सकता है। ऐसे में अगर आप भी हैप्‍पी कपल बनना चाहते हैं तो आपको छोटी-छोटी और निरर्थक बातों पर पार्टनर संग झगड़ा करना बंद कर देना चाहिए।
हर दिन की खीज-झुंझलाहट
जब आप किसी के साथ लॉन्ग टर्म रिलेशनशिप में होते हैं खासकर शादी के बाद तो जाहिर सी बात है पार्टनर की छोटी-छोटी बातें और बुरी आदतें आपको अच्छी नहीं लगतीं और परेशान कर सकती हैं। ऐसे में इन बातों पर बहुत ज्यादा ध्यान देने से आपके रिश्ते में स्ट्रेस और टेंशन बढ़ेगा लिहाजा इस तरह के मुद्दों में प्राथमिकता तय करें और जो बहुत ज्यादा गंभीर मुद्दे हों सिर्फ उसी पर पार्टनर से बात करें। याद रखें आप अपने जीवनसाथी की आलोचना नहीं कर रहे बल्कि उनके व्यवहार में सुधार लाने की कोशिश कर रहे हैं।
शादी के बाहर पार्टनर की लाइफ
आपकी शादी हो गई है इसका मतलब ये नहीं शादी के बाहर आपकी या आपके पार्टनर की कोई लाइफ नहीं है। ऐसे में अगर आप हैप्‍पी कपल बनना चाहते हैं तो अपने पार्टनर की हॉबीज, उनके दोस्त और दूसरी बातों को भी अहमियत दें। अगर आपका लाइफ पार्टनर आपको भी बराबर समय दे रहा है तो आपको भी उनकी शादी के बाहर की आदतों को बराबर महत्व देना चाहिए।
सोशल मीडिया हैबिट्स
इन दिनों गैजट्स और सोशल मीडिया एडिक्शन ज्यादातर लोगों में देखने को मिल रहा है और इस वजह से भी कई बार रिश्तों में दरार आ सकती है लिहाजा अपनी या पार्टनर की सोशल मीडिया हैबिट्स के बारे में पहले से ही बात कर लें। उदाहरण के लिए अगर आपको सोशल मीडिया पर हर चीज पोस्ट करने की आदत है लेकिन पार्टनर प्राइवेट पर्सन है तो आपको उनसे बात करके ही चीजें पोस्ट करनी चाहिए। साथ ही दोनों को एक दूसरे के लिए कुछ टेक-फ्री टाइम भी निकालना चाहिए।
बीती बातों पर बहस न करें
जो बातें पहले हो चुकी हैं, उन्हें फिर से बोलकर अपने रिश्ते को खराब करने से क्या फायदा। जब तक बात बहुत ज्यादा गंभीर, या किसी तरह की बेवफाई या तकलीफ देने वाली बात न हो तब तक पुरानी बातों को याद कर बहस बिलकुल न करें क्योंकि ऐसा करने से आपके रिश्ते में और ज्यादा समस्याएं हो सकती हैं।
कौन सही कौन गलत
हैप्‍पी कपल कभी भी ब्लेम गेम नहीं खेलते यानी वे एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप नहीं करते। ऐसा इसलिए क्योंकि अगर आप अपने पार्टनर को किसी बात के लिए दोषी ठहराएंगे तो जाहिर सी बात है वह भी किसी बात को खोजकर दोष आप पर मढ़ने की कोशिश करेंगे लिहाजा अपने पार्टनर के नजरिए को समझने और स्वीकार करने की कोशिश करें। ऐसा करने से कौन सही-कौन गलत वाली परिस्थिति कभी आपके रिश्ते में नहीं आएगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »