Employment प्रदाता बनने का संकल्प लें युवा: डा. सर्वज्ञ राम मिश्रा

मथुरा। बेरोजगारी की समस्या के दृष्टिगत हर युवा पढ़-लिखकर नौकरी हासिल करना चाहता है लेकिन ऐसा सम्भव नहीं है, हमारी युवा पीढ़ी स्वरोजगार स्थापित कर न केवल अपने पैरों पर खड़ी हो बल्कि Employment प्रदाता बनने का संकल्प भी लेंं।

उक्त उद्गार शनिवार को संस्कृति यूनिवर्सिटी में प्रक्रिया एवं उत्पाद विकास केन्द्र आगरा द्वारा आयोजित स्वयं का व्यवसाय प्रारम्भ करें विषय पर आयोजित जागरूकता अभियान में जिलाधिकारी मथुरा डा. सर्वज्ञ राम मिश्रा ने किसानों और छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किए।

जिलाधिकारी डा. मिश्रा ने कहा कि जो लोग अपने जीवन को अधिक नियंत्रण में रखना चाहते हैं तथा यह सोचते हैं कि अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए उन्हें किसी और की जरूरत नहीं है, ऐसे लोगों का आत्मनिर्भर होना बहुत जरूरी है। डा. मिश्रा ने संस्कृति यूनिवर्सिटी के कृषि संकाय के छात्र-छात्राओं का आह्वान किया कि वे छाता तहसील के 273 गांवों में किसानों को कृषि में हो रहे नित नए बदलाव से अवगत कराने के साथ उन्हें पराली जलाने से रोकें ताकि वातावरण को प्रदूषणमुक्त बनाया जा सके।

संस्कृति यूनिवर्सिटी युवाओं को पढ़ा रही Employment से आत्मनिर्भरता का पाठः कुलाधिपति सचिन गुप्ता

इस अवसर पर कुलाधिपति सचिन गुप्ता ने कहा कि संस्कृति यूनिवर्सिटी कौशलपरक शिक्षा के माध्यम से युवा पीढ़ी को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में ठोस प्रयास कर रही है। हमारा प्रयास है कि यहां के छात्र-छात्राएं शिक्षा ग्रहण करने के बाद नौकरी तलाशने की बजाय स्वरोजगार स्थापित कर अपने परिवार तथा प्रदेश और देश के विकास में सहभागी बनें। संस्कृति यूनिवर्सिटी अपनी शिक्षा प्रणाली में बदलाव कर युवाओं को नौकर नहीं बल्कि मालिक बनने के लिए प्रेरित कर रही है।

निदेशक डी.आई. आगरा आर.के. कपूर ने कहा कि स्वरोजगार के लिए जरूरी है कि हम अपने आसपास की आवश्यकताओं को न केवल देखें बल्कि उस पर काम करने का भी संकल्प लें। बच्चों आप जो करना चाहते हैं उसकी प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करें साथ ही सफलता के लिए जोखिम उठाने से बिल्कुल भी न हिचकिचाएं।

प्रिंसिपल डायरेक्टर पी.पी.डी.सी. आगरा पन्नीरसेल्वम ने कहा कि हर इंसान के पास आइडियाज होते हैं लेकिन जो लोग उन पर अमल करते हैं वहीं सफलता हासिल करते हैं। प्रक्रिया उत्पाद विकास केन्द्र आगरा के प्रधान निदेशक पन्नीरसेल्वम ने कहा कि आज फूड इंडस्ट्रीज में स्वरोजगार की अपार सम्भावनाएं हैं। युवा पीढ़ी डेयरी, बेकरी, कृषि व्यवसाय आदि के माध्यम से अपने सपनों को साकार कर सकती है।

चेम्बर आफ कामर्स मथुरा के चेयरमैन के.डी. अग्रवाल ने छात्र-छात्राओं को ओयो के मालिक 26 वर्षीय रोहित अग्रवाल का उदाहरण देते हुए कहा कि युवा पीढ़ी के पास आज स्वरोजगार के बहुत अवसर हैं, बस उसे हिम्मत जुटाने की जरूरत है। श्री अग्रवाल ने कहा कि कोई भी व्यवसाय हो बिना संघर्ष के सफलता हासिल नहीं की जा सकती। लीड बैंक के मैनेजर अनिल कुमार ने छात्र-छात्राओं को स्वरोजगार के लिए बैंकों से ऋण हासिल करने के तौर-तरीके बताए। कार्यक्रम का शुभारम्भ मां सरस्वती की पूजा-अर्चना एवं दीप प्रज्ज्वलन के साथ किया गया। संस्कृति यूनिवर्सिटी के कार्यकारी निदेशक पी.सी. छाबड़ा, डीन इंजीनियरिंग डा. कल्याण कुमार ने अतिथियों का स्वागत किया।

कुलपति डा. राणा सिंह ने स्वागत भाषण दिया तथा उप निदेशक इंद्रजीत यादव ने सभी का आभार माना तथा कार्यक्रम का समन्वय डा. माधव वर्मा द्वारा किया गया। कार्यक्रम का संचालन प्राध्यापिका प्रिया शर्मा ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »