रूहानी इबादत की बात करते हैं शायर सुरेंद्र चतुर्वेदी

‘जिसके पास एहसासों की दौलत हो, वो अल्फाजों की गुलामी नहीं करता।’ तो ऐसे ही अल्फाजों के दौलतमंद हैं सूफिज्म

Read more