दो कविताएं- कायनात सारी मिल जायेगी, एक पहल तो करनी होगी

1. कायनात सारी मिल जायेगी, एक पहल तो करनी होगी समझना होगा, दुनिया की चाल को, बदलना होगा, खुद से

Read more