श्रीकेशवदेव ने नृसिंह रूप किया धारण, जन्मभूमि पर हुए प्रकट

मथुरा। नास्तिक हिरण्यकश्यप के अत्याचारों की पराकाष्ठा जब अपने पुत्र प्रह्लाद को भी प्रताड़ित करने लगी तब आज ही के

Read more
Translate »