लिव-इन में सहमति से शारीरिक संबंध बलात्‍कार नहीं: सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्‍ली। देश की सर्वोच्‍च अदालत ने लिव-इन रिलेशनशिप में सहमति से शारीरिक संबंध बनाने को बलात्‍कार की श्रेणी में

Read more

भारत में महिलाओं के लिए विवाह की कानूनी उम्र बढ़ाने के मायने

“जब जेन ऑस्टेन ने उपन्यास “प्राइड एंड प्रेजुडिस” में इस एक सत्य को सार्वभौमिक रूप से स्वीकार किया कि एक

Read more