सत्ता की संकल्प-शक्ति से ही हिन्दी बनेगी राष्ट्रभाषा

भाषा व्यक्ति-व्यक्ति के मध्य अथवा दो समूहों के मध्य केवल संपर्क का ही माध्यम नहीं होती। वह संपर्क से आगे

Read more

शिक्षक दिवस विशेष: एक गंभीर सामाजिक दायित्व-बोध है ‘शिक्षा’

भारतवर्ष की सनातन सांस्कृतिक परंपरा में ‘शिक्षा’ स्वयं में बहुअर्थगर्भित शब्द है। यहाँ शिक्षा का अभिप्राय साक्षरता अथवा शैक्षणिक प्रमाणपत्रों

Read more

राजनीति के आदर्श-प्रतिमान हैं श्रीकृष्ण

‘महाभारत’ के ‘सभापर्व’ में राजनीतिक व्यक्ति (राजा) में छः गुण ( व्याख्यान शक्ति, प्रगल्भता, तर्ककुशलता, नीतिगत निपुणता, अतीत की स्मृति

Read more

राममंदिर पर ओवैसी के विरोध का सच

ए.आई.एम.आई.एम. (ऑल इंडिया मजलिस ए एतिहाद उल मुसलमीन) के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर राममंदिर के विरुद्ध स्वर

Read more

शहीद गुरुतेज सिंह: शस्त्र के बिना शौय-प्रदर्शन कठिन है

15 जून की रात को चीनी और भारतीय सैनिकों के मध्य हुई हिंसक झड़प के संदर्भ में 23 वर्षीय भारतीय

Read more

सीमाओं की सुरक्षा हमारे पुरुषार्थ के परीक्षण की वेला है

चीन के विदेश मंत्रालय ने एक बार फिर दावा किया है कि हमारी उत्तरी सीमा पर स्थित ‘गलवान घाटी’ उसकी

Read more

सिंध के ‘महाराज दाहिर’ ज‍िन्हें इतिहास और समाज ने भुला द‍िया

व‍िगत 16 जून को महाराज दाहिर की पुण्यतिथि‍ थी, इसी अवसर पर ल‍िखा गया एक उत्कृष्ट आलेख अरबों के आक्रमण

Read more

स्वाधीनता दिवस पर आत्मावलोकन आवश्यक

स्वाधीनता दिवस एक बार फिर आत्मावलोकन का अवसर लेकर उपस्थित हुआ है। इसमें संदेह नहीं कि देश ने विगत सात

Read more

जीवन के वाड्मय का सबसे प्यारा शब्द है – माँ

माँ शब्दकोश का ही नहीं अपितु जीवन के वाड्मय का भी सबसे प्यारा शब्द है। शिशु के मुख से सबसे

Read more

लोकतंत्र का भविष्य समन्वय में है संघर्ष में नहीं

लोकतंत्र में प्रयुक्त ‘लोक‘ शब्द अपने अपार विस्तार में समस्त संकीर्णताओं से मुक्त है । ‘लोक’ जाति-धर्म-भाषा-क्षेत्र-वर्ग आदि समूह की

Read more