माँ गंगा के प्रवाह में बसती है सनातन धर्म की आत्मा

गंगां वारि मनोहारि मुरारिचरणच्युतं। त्रिपुरारिशिरश्चारि पापहारि पुनातु मां॥ भगवान विष्णु के चरण कमलों से प्रकट होकर, त्रिपुरारी शिव के शीश

Read more