अटल बिहारी वाजपेयी की प्रसिद्ध कविता: मौत से ठन गई…

*मौत से ठन गई!* *मौत से ठन गई!!* जूझने का मेरा कोई इरादा न था, मोड़ पर मिलेंगे इसका कोई

Read more

रिवर्स गियर वाली कवितायें

पिछले एक सप्‍ताह से कभी रुक कर तो कभी तेज बारिश हो रही है। मुझे अपना बचपन याद आ रहा

Read more

Fathers Day पर पढ़िए अज्ञेय की कविता- चाय पीते हुए

हर साल जून के तीसरे रविवार को पूरी दुनिया में फादर्स डे मनाया जाता है। इस साल यह दिन 17

Read more
Translate »