हां…मैंने कल पत्थरबाजी की थी, लेकिन मैं यह नहीं करना चाहती

श्रीनगर। अपने पैर के नीच फुटबॉल दबाए 21 वर्षीय अफशां आशिक कहती हैं, ‘हां, मैंने कल पत्थरबाजी की थी, लेकिन

Read more