संस्कृति विवि में शपथ के साथ शुरू हुआ स्वच्छता पखवाड़ा

मथुरा। संस्कृति विश्वविद्यालय में स्वच्छता पखवाड़े की शुरुआत शपथ के साथ हुई। शुरु हुए पखवाड़े के तहत गुरुवार को शिक्षकों सहित छात्र-छात्राओं ने अपने जीवन के कुछ क्षण अपने आसपास को स्वच्छ और साफ-सुथरा रखने के लिए शपथ ली।

इस मौके पर विश्वविद्यालय के कुलपति डा. राणा सिंह ने शिक्षकों और छात्र-छात्राओं को हाथ खड़ा कर स्वच्छता बनाए रखने की शपथ दिलाई। उन्होंने कहा कि गांधी जी का सपना था कि भारत एक स्वच्छ और साफ-सुथरा देश बने। हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी यही चाहते हैं। प्रधानमंत्री द्वारा स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की गई है। उन्होंने कहा कि हम अपने आसपास को स्वच्छ रखते हैं तो अनेक बीमारियों से भी बचते हैं। इससे हमारे देश की छवि भी सुधरती है।

छात्र-छात्राओं ने एक स्वर से अपने आसपास को स्वच्छ और सुंदर बनाने का संकल्प लिया। सभी ने शपथ ली कि मैं गंदगी को दूर करके भारत माता की सेवा करूंगा। मैं शपथ लेता हूं कि मैं स्वयं स्वच्छता के प्रति सजग रहूंगा और उसके लिए समय दूंगा। हर वर्ष सौ घंटे यानी हर सप्ताह दो घंटे श्रम दान करके स्वच्छता के इस संकल्प को चरितार्थ करूंगा। मैं न गंदगी करूंगा, न किसी और को करने दूंगा। सबसे पहले मैं स्वयं से, मेरे परिवार से, मेरे मोहल्ले से, मेरे गांव से और मेरे कार्यस्थल से शुरुआत करूंगा। मैं यह मानता हूं कि दुनिया के जो भी देश स्वच्छ दिखते हैं उसका कारण यह है कि वहां के नागरिक गंदगी नहीं करते और न ही होने देते हैं। इस विचार के साथ मैं गांव गांव और गली-गली स्वच्छ भारत मिशन का प्रचार करूंगा। मैं आज जो शपथ ले रहा हूं वह अन्य सौ व्यक्तियों से भी करवाऊंगा, ताकि वे भी मेरी तरह सफाई के लिए सौ घंटे प्रयास करें। मुझे मालूम है कि सफाई की तरफ बढ़ाया गया एक कदम पूरे भारत को स्वच्छ बनाने में मदद करेगा।

विश्वविद्यालय के कुलाधिपति सचिन गुप्ता ने आशा व्यक्त की कि हर छात्र-छात्रा इस शपथ पर कायम रहेगा और साफ सफाई के प्रति समर्पित होकर स्वच्छ भारत निर्माण में सहयोग देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *