पाकिस्‍तान में मेडिकल की छात्रा हिंदू लड़की की संदिग्‍ध मौत

लरकाना। पाकिस्तान के सिंध प्रांत के लरकाना में एक हिंदू मेडिकल छात्रा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। विश्वविद्यालय प्रशासन ने अंदेशा जताया है कि हो सकता है कि छात्रा ने खुदकुशी की हो लेकिन उसके परिजनों ने उसकी हत्या का आरोप लगाया है। यह मामला सोशल मीडिया पर ट्रेंड हो गया है और छात्रा के लिए इंसाफ की मांग की जा रही है।
पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, शहीद मोहतरमा बेनजीर भुट्टो मेडिकल यूनिवर्सिटी के बीबी आसिफा डेंटल कॉलेज की बीडीएस की अंतिम वर्ष की छात्रा निमरिता कुमारी सोमवार को संदिग्ध हालात में अपने हॉस्टल के कमरे में मृत मिलीं। एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि उनका शरीर छत से लटकता मिला। रिपोर्ट में आशंका जताई गई है कि निमरिता ने आत्महत्या की है।
डॉ. निमरिता के भाई डॉ. विशाल ने स्पष्ट शब्दों में कहा है कि उनकी बहन की हत्या की गई है। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कि घटना से दो घंटे पहले निमरिता ने कॉलेज में मिठाई बांटी थी। ऐसा भला क्या हो सकता है कि इसके महज दो घंटे बाद ही वह खुदकुशी कर ले?
विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर अनीला अताउर रहमान ने बताया कि निमरिता अमरता महेर चंदानी अपने कमरे में मृत मिलीं। कमरा अंदर से बंद था। उन्होंने बताया कि पुलिस छात्रा के फोन और अन्य चीजें फोरेंसिक जांच के लिए ले गई है। मौत की वास्तविक वजहों का पता चलना अभी बाकी है।
कुलपति ने कहा कि घटना की सूचना मिलने पर वह खुद और अन्य अधिकारी निमरिता के हॉस्टल पहुंचे। दरवाजा तोड़कर निमरिता को बाहर निकाला गया और अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। उन्होंने कहा कि पुलिस को और छात्रा के घरवालों को जानकारी दी गई। शरीर पर किसी तरह की प्रताड़ना के निशान नहीं मिले लेकिन गले पर खरोंच पाई गई है जिससे खुदकुशी की आशंका लग रही है।
छात्रा का संबंध घोटकी जिले के मीरपुर मथेलो शहर के एक बड़े व्यापारी घराने से है। उनके शव को उनके पैतृक स्थान पर भेज दिया गया है। निमरिता की परीक्षा चल रही थी और एक दिन पहले ही उन्होंने पहले पेपर की परीक्षा दी थी।
यूनिवर्सिटी की रजिस्ट्रार डॉ. शाहिदा ने घटना की रिपोर्ट सिंध के मुख्यमंत्री को भेजी है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से घटना की विस्तृत जांच करने और छात्रा के माता-पिता की हर मदद करने के लिए कहा।
विशाल ने अपनी बहन का पोस्टमार्टम निजी अस्पताल के डॉक्टरों से कराने की मांग की। सोशल मीडिया पर भी हैशटैग जस्टिस फॉर निमरिता के नाम से एक मुहिम छेड़ी गई है। सांसद व पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) के सिंध की अल्पसंख्यक शाखा के प्रमुख खील दास कोहिस्तानी ने ट्वीट में कहा कि लरकाना के मेडिकल कॉलेज हॉस्टल से बीडीएस अंतिम वर्ष की छात्रा का शव मिला है जिसके साथ बर्बरता किए जाने के निशान मिले हैं। अल्पसंख्यकों की असुरक्षा और प्रताड़ना का एक और मामला।
एक अन्य यूजर शाहजहां बलोच ने ट्वीट में बताया है कि यूनिवर्सिटी के विद्यार्थी बड़ी संख्या में सड़क पर धरने पर बैठ गए और उन्होंने निमरिता के लिए इंसाफ की मांग की। एक अन्य यूजर ताहा अब्बासी ने लिखा कि हम पाकिस्तान की बेटी के लिए इंसाफ की मांग कर रहे हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »