लालू यादव को सजा के बाद सुशील मोदी का सवाल: सीबीआई का इस्तेमाल आखिर किसने किया ?

पटना। बिहार के उपमुंख्यमंत्री सुशील मोदी ने चारा घोटाला मामले में आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिए जाने के बाद सीबीआई पर लग रहे पक्षपात के आरोप पर रविवार को जवाब दिया। उन्होंने सवाल किया कि सीबीआई का इस्तेमाल आखिर किसने किया। उनके निशाने पर केंद्र की पिछली यूपीए सरकार थी।
मोदी ने ट्वीट कर सवाल उठाया कि सीबीआई का इस्तेमाल आखिर किसने किया था। उन्होंने यूपीए पर निशाना साधते हुए कहा कि 2010 में लालू के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में सीबीआई लालू को रिहा करने के निचली अदालत के फैसले के खिलाफ जाना चाहती थी लेकिन उसे अनुमति नहीं दी गई थी।
उन्होंने यह भी सवाल किया कि आरजेडी कैसे सीबीआई कोर्ट पर जाति के आधार पर पक्षपात करने का आरोप लगा रही है? उनका कहना है कि अगर सीबीआई ने पक्षपात किया होता तो कैसे आरजेडी के ही विद्या सागर निशाद को रिहा कर दिया गया, जबकि जगदीश शर्मा और लगभग आधा दर्जन ऊंची जाति के लोगों को दोषी करार दिया गया। उन्होंने आरोप लगाया कि लालू ने चारा घोटाला करके पिछड़े वर्गों को नुकसान पहुंचाया है।
इससे पहले शनिवार को सुशील कुमार ने ट्वीट किया था- ‘जो बोया वह पाया, यह तो होना ही था।’ गौरतलब है कि शनिवार को बिहार के पूर्व सीएम और आरजेडी के मुखिया लालू प्रसाद यादव को चारा घोटाले के एक मामले में रांची की सीबीआई की विशेष अदालत ने दोषी करार दिया था। सजा का ऐलान 3 जनवरी को होगा। हालांकि, कोर्ट ने 22 आरोपियों में से पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्र समेत 6 लोगों को बरी कर दिया।
-एजेंसी