सर्वे: राष्‍ट्रवाद की लहर दिलाएगी NDA को बहुमत, मिल सकती हैं 300 सीटें

नई दिल्‍ली। आईएएनएस के लिए सीवोटर द्वारा किए गए सर्वेक्षण ‘द स्टेट ऑफ द नेशन मार्च 2019 वेव 2’ राष्ट्रीय राजनीति के दो मुख्य ध्रुवों राष्ट्रीय जनतांत्रित गठबंधन NDA और संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (संप्रग) के इस साल के आम चुनाव के लिए संभावित वोट प्रतिशत को दिखाता है।
42 फीसदी वोट NDA को
भाजपा की अगुवाई वाले NDA के लिए चुनाव पूर्व गठबंधन राष्ट्रीय स्तर पर 42 फीसदी वोट हासिल करने में मदद करेगा जबकि कांग्रेस की अगुवाई वाले संप्रग को चुनाव पूर्व गठबंधन से 30.4 फीसदी वोट प्राप्त होगा। सीवोटर स्टेट ऑफ द नेशन मार्च 2019 वेव 2 जनमत सर्वेक्षण को 24 मार्च को जारी किया गया। यह इस सप्ताह के 10,280 के नमूना सर्वेक्षण पर आधारित है और यह एक जनवरी से 543 लोकसभा निर्वाचन क्षेत्रों के 70,000 उत्तरदाताओं के संग्रह पर आधारित है।
NDA को 35.4 फीसदी वोट पाने की संभावना
NDA, चुनाव में बढ़त बनाने के लिए भाजपा के राष्ट्रवाद के बयान का सहारा ले रहा है जबकि इसने अपने कार्यकाल में रोजगार के अवसर बढ़ाने, कृषि संकट दूर करने व अर्थव्यवस्था में वृद्धि की बात कही थी लेकिन राष्ट्रवाद इसका मुख्य आधार बना हुआ है। NDA को वोट शेयर अनुमानों में प्रमुख राज्यों में प्रतिद्वंद्वियों पर फायदा मिलता दिख रहा है। उत्तर प्रदेश में राजग को 35.4 फीसदी वोट पाने की संभावना है। उत्तर प्रदेश में कांग्रेस महागठबंधन का हिस्सा नहीं है।
ऐसा तब है जब सीवोटर जनमत सर्वेक्षण में राजग को 2014 की तुलना में बहुत कम सीटें मिलने के संकेत हैं। बिहार में राजग का वोट शेयर 52.6 फीसदी रहने की उम्मीद है।
राजस्थान में राजग को 50.7 फीसदी मत मिलने की उम्मीद
राजस्थान में राजग को 50.7 फीसदी मत मिलने की उम्मीद है जबकि भाजपा के मजबूत गढ़ गुजरात में सीवोटर जनमत सर्वेक्षण का कहना है कि राजग का वोट शेयर 58.2 फीसदी रहेगा। वोट शेयर अनुमानों के अनुसार महाराष्ट्र में राजग का वोट शेयर 48.1 फीसदी जबकि भाजपा शासित हरियाणा में राजग का वोट शेयर 42.6 फीसदी रहने की संभावना है।
चुनाव पूर्व गठबंधन के आधार पर राजग के लिए सीट शेयर के अनुमानों से पता चलता है कि सदन में 261 सीटों के साथ यह बहुमत से दूर रहेगी। इससे पहले 10 मार्च के सीवोटर जनमत सर्वेक्षण में यह संख्या 264 थी। दूसरा सर्वेक्षण दिखाता है कि भाजपा अपने बूते पर 241 सीटें हासिल करेगी।
हालांकि, चुनाव बाद गठबंधन से यह बहुमत के आंकड़े 272 को पार कर जाएगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »