सुरीर कोतवाली कांड: जोगेंद्र की पत्‍नी चंद्रवती ने भी दम तोड़ा

मथुरा। पुलिस की लापरवाही और दबंगों के उत्‍पीड़न से त्रस्‍त जिन दंपति ने जनपद की सुरीर कोतवाली में खुद को आग के हवाले किया था, उनमें से पत्नी चंद्रवती ने भी बीती रात दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में दम तोड़ दिया। चंद्रवती के पति की पांच दिन पहले ही मौत हो चुकी है।
पुलिस ने भी इसकी पुष्‍टि करते हुए बताया कि चंद्रवती की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शुक्रवार रात इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। इसको लेकर गांव में तनाव की आशंका को देखते हुए वहां पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। इस मामले में पुलिस ने अब तक मुख्य आरोपी सहित दो नामजदों को गिरफ्तार कर लिया है जबकि पांच अन्य अभी भी फरार हैं।
पुलिस द्वारा दर्ज मामले के अनुसार मथुरा के सुरीर क्षेत्र का निवासी जोगेंद्र (40) भट्टे पर मजदूरी करता था। उसका पड़ोसी सत्यपाल उसके मकान पर कथित तौर पर कब्जा करना चाह रहा था। इस वजह से उसने जोगेंद्र को कई बार धमकाया। बीती 23 अगस्त को सत्यपाल ने अपने अन्य बदमाश साथियों के साथ मिलकर पति-पत्नी की पिटाई की थी। आरोप है कि जोगेंद्र ने इस बारे में कई बार पुलिस में शिकायत की लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई। आखिरकार, जोगेंद्र ने 28 अगस्त को थाना कोतवाली में अपने व पत्नी के ऊपर केरोसिन का तेल डालकर आग लगा ली। दोनों की गंभीर हालत को देखते हुए पुलिस ने उन्हें दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भर्ती कराया था जहां एक-एक करके दोनों की मौत हो गई।
इस बीच पुलिस ने पहले सत्यपाल को गिरफ्तार कर जेल भेजा। फिर उसके सहयोगी मोहनश्याम शर्मा को पकड़कर अदालत में पेश किया, जहां से उसे जमानत मिल गई। जमानत पर बाहर आने के बाद वह भी बाकी अन्य आरोपियों बबलू ठाकुर, नत्थो, शिब्बो के साथ फरार चल रहा है। चंद्रवती का शव शाम तक मथुरा लाया जाएगा। मृतक दंपति के पुत्र जगदीश ने आरोप लगाया कि आरोपी अब उसके चचेरे बाबा लीलाधर उर्फ गुड्डू ठाकुर को भी धमकी देकर उनका साथ देने से मना कर रहे हैं।
वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शलभ माथुर ने तत्कालीन थाना प्रभारी अनूप सरोज, जांचकर्ता उप निरीक्षक दीपक नागर व दरोगा सुनील कुमार सिंह को निलंबित करके क्षेत्रीय उपाधीक्षक जगवीर सिंह को जांच के आदेश दिए थे तथा आगरा जोन के अपर पुलिस महानिदेशक ए सतीश गणेश ने भी परिजनों से मिलकर न्याय दिलाने का भरोसा दिया था।
एसपी (ग्रामीण) आदित्य कुमार शुक्ला के अनुसार कि इस प्रकरण में पीड़ित दंपति ने 23 अगस्त को जो तहरीर दी थी, उसके अनुसार नामजदों के खिलाफ कार्यवाही की जा चुकी है और आगे की जांच जारी है। जांच में अन्य जिसका भी नाम सामने आएगा, उसके खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।
जोगेंद्र के चाचा लीलाधर उर्फ गुड्डू ठाकुर को धमकी देने के सवाल पर उन्होंने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है। पुलिस को इस संबंध में लिखित शिकायत मिलेगी तो कार्यवाही अवश्य की जाएगी। फिलहाल, गांव में शांति के साथ मृतका का अंतिम संस्कार संपन्न कराने के प्रयास किए जा रहे हैं।
-Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *