सुप्रीम कोर्ट ने प्रद्युम्न मर्डर केस में केंद्र, मानव संसाधन मंत्रालय, हरियाणा सरकार, CBI और CBSE को भेजे नोटिस

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने गुरुग्राम के रायन इंटरनेशनल स्कूल के प्रद्युम्न मर्डर केस में उसके पिता की अर्जी पर सुनवाई करते हुए केंद्र, मानव संसाधन मंत्रालय, हरियाणा सरकार, CBI और सीबीएसई को नोटिस जारी किया है।
कोर्ट ने सभी पक्षों से तीन हफ्ते के अंदर जवाब मांगा है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद प्रद्युमन के पिता वरुण ठाकुर ने कहा, ‘मुझे कोर्ट पर बहुत विश्वास है इसलिए हम यहां आए थे। जिस तरह से कोर्ट ने ऐक्शन लिया है, हम खुश हैं।’
उन्होंने कहा, ‘हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने मुझे फोन किया था। हरियाणा सरकार की तरफ से भी हमें सहयोग मिल रहा है।’
प्रद्युमन के पिता के वकील ने सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर कहा कि याचिका में कई पक्षों को पार्टी बनाया गया है, जिसमें केंद्र, हरियाणा सरकार और सीबीएसई शामिल हैं। उन्होंने कहा कि कोर्ट ने सभी संबंधित पक्षों को नोटिस जारी किया है। कोर्ट ने सभी से तीन हफ्ते के अंदर जवाब दाखिल करने को कहा है।
उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का यह नोटिस एक ही स्कूल तक सीमित नहीं है। देश के सभी स्कूलों को लेकर यह नोटिस जारी किया गया है। उन्होंने कहा कि याचिका में उनकी ओर से मांग की गई थी कि स्कूलों को बच्चों की सुरक्षा के बारे में एक गाइडलाइंस जारी की जाए। इसके साथ ही प्रद्युमन की हत्या की जांच के लिए आयोग के गठन की मांग की गई है, जिससे जिम्मेदारी फिक्स हो सके। उन्होंने कहा कि कोर्ट से मामले की सीबीआई जांच भी कराने की मांग की गई है।
प्रद्युमन के पिता वरुण ठाकुर ने इस मामले की जांच सीबीआई या विशेष जांच दल (एसआईटी) से कराने की मांग को लेकर सोमवार को सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था। यह अर्जी जस्टिस दीपक मिश्रा की पीठ के समक्ष सुनवायी के लिए आई। इस पीठ में चीफ जस्टिस के अलावा जस्टिस एएम. खानविलकर और जस्टिस डी. वाई. चन्द्रचूड भी शामिल हैं।
गुरग्राम स्थित रायन इंटरनेशनल स्कूल के शौचालय में आठ सितंबर को बच्चे का गला रेता हुआ शव मिला था।
स्कूल के कंडक्टरों में से एक अशोक कुमार को इस सिलसिले में उसी दिन गिरफ्तार किया गया था। बताया जा रहा है कि कुमार ने बच्चे का यौन उत्पीड़न करना चाहा और इसी दौरान उसकी हत्या कर दी। हालांकि प्रद्युम्न की मां ने कंडक्टर के कथित इकबालिया बयान पर संदेह व्यक्त किया है। मृत बच्चे की मां का कहना है कि उसके बच्चे ने स्कूल में कुछ गलत होता देख लिया था, इसके बाद उसकी हत्या कर दी गई। उन्होंने मामले की जांच कर असल दोषियों को नहीं पकड़ने पर आत्मदाह की भी धमकी दी है।
-एजेंसी