बलात्‍कार पीड़िताओं को निशुल्‍क न्‍याय दिला रहा है नूपुर का NGO

मथुरा। अच्छे संस्कार, सोच, लगन, मेहनत, विचार और ईमानदारी ही वह गुण होते हैं जो किसी भी मनुष्य को महानता की श्रेणी में तो खड़ा ही करते ही हैं, साथ ही जननायक भी बना देते हैं। हरियाणा के बड़े शहर गुरुग्राम (गुड़गांव) के एक संस्कारी परिवार में जन्मी नूपुर धमीजा में यह गुण स्पष्ट परिलक्षित होते हैं ।

नूपुर के माता पिता अच्छे वकील हैं। एडवोकेट नूपुर ने बताया कि एलएलबी के प्रथम वर्ष में प्रवेश लेने के बाद उन्हें लगा कि गुडगांव क्राइम के मामले में टॉप पर है और मन में इच्छा हुई कि क्रिमिनल साइड में वकालत शुरू की जाए। इस ख्याल को नूपुर ने अपने माता-पिता को बताया तो उन्‍हें उनका पूरा सपोर्ट मिला। स्नातक, एलएलबी, एलएलएम, एमबीए और सीएस तक की शिक्षा प्राप्त सुप्रीम कोर्ट की एडवोकेट नूपुर धमीजा आज अपने नेक कार्यों के लिए एक जाना पहचाना नाम है। सरल स्वभाव, कोमल ह्रदय, पीड़ितों के लिए दया का भाव लिए नूपुर आज अपराधियों के लिए कानूनी काल से कम नहीं हैं।

नूपुर धमीजा का NGO “नारी शक्ति एक नई पहल” पीड़‍ितों को न‍ि:शुल्क न्याय द‍िला रहा है

पेशे के प्रति ईमानदार, न्यायपालिका में भरोसा रखने वाली नूपुर ने देश में बलात्कार पीड़ितों को न्याय दिलाने का बीड़ा उठाया है। इसके लिए उन्होंने गुड़गांव और दिल्ली में अपने चेंबर बनाए हैं जिनमें करीब 3 दर्जन से अधिक उनके जूनियर सहयोग के लिए रहते हैं, उन्होंने पीड़ितों की मदद के लिए “नारी शक्ति एक नई पहल” नामक NGO की स्थापना कर पूरे भारत में मुहिम चला रखी है जिसमें उनके साथ जज, वकील, प्रशासनिक अधिकारी, पत्रकार और कई समाज सेवी संगठन जुड़े हैं। पिछले 11 वर्षों से एडवोकेट नूपुर धमीजा अपने एसोसिएट चला रही हैं । बलात्कार की घटनाओं को सुनते ही उनका खून खोलने लगता है ।

NGO से जुड़े जज, वकील, प्रशासनिक अधिकारी, पत्रकार और सामाजिक संगठन

आज छोटी-छोटी लड़कियों युवतियों, विवाहित महिलाओं यहां तक कि बुजुर्ग महिलाओं और बच्चों के साथ में बलात्कार किए जा रहे हैं। इन घटनाओं ने एडवोकेट नूपुर धमीजा के हृदय को झकझोर कर रख दिया और उन्होंने निर्णय लिया कि वह बलात्कार पीड़ितों की हर संभव मदद करेंगी, जिसके लिए उन्होंने कुछ समय पूर्व अपना एनजीओ “नारी शक्ति एक नई पहल” बनाया और देश के कई हिस्सों से जज, वकील, प्रशासनिक अधिकारी, पत्रकार और कई समाजसेवी संगठनों को अपने साथ जोड़ा है ।

आज वह बलात्कार पीड़ितों की मदद स्वयं एसोसिएट के साथ NGO के माध्यम से कर रही हैं। एडवोकेट नूपुर धमीजा बताती हैं कि किसी भी मामले को हाथ में लेने से पहले पूरी जांच पड़ताल करती हैं उसके बाद बलात्कारियों को सजा दिलाकर ही दम लेती हैं। आज उनके पास देश के कई प्रदेशों से मामले आ रहे हैं और पीड़ितों को न्याय दिला रही हैं। मध्य प्रदेश से 28 मामलों में से 16, उत्तर प्रदेश से 3, हरियाणा से दो, दिल्ली से एक मामले मैं मुकदमा लड़ रही हैं। पंजाब के एक मामले में दोषियों को सजा दिला चुकी हैं। इसमें बड़ी बात यह है कि इनमें से किसी भी पीड़ित से कोई शुल्क नहीं लिया जा रहा है। एडवोकेट नुपुर धमीजा दर्जनों संगठनों में लीगल एडवाइजर के रूप में भी कार्य कर रहीं हैं । समाजसेवा के लिए वह हर पल तत्पर रहती हैं ।

उक्त जानकारी “नारी शक्ति एक नई पहल” के मथुरा मीडि‍या प्रभारी पत्रकार शिवशंकर शर्मा द्वारा दी गयी है ।

-Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *