धोनी के खिलाफ आपराधिक शिकायत सुप्रीम कोर्ट ने की निरस्त

Supreme Court adjourns criminal complaint against Dhoni
धोनी के खिलाफ आपराधिक शिकायत सुप्रीम कोर्ट ने की निरस्त

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने एक मैगजीन के कवर पर भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को भगवान विष्णु के रूप मे कथित रूप से पेश करने के मामले में उनके खिलाफ दायर आपराधिक शिकायत निरस्त की।
अदालत ने पत्रिका के संपादक के खिलाफ भी आपराधिक शिकायत निरस्त करते हुए कहा कि धार्मिक भावनाएं भड़काने का मामला नहीं बनता है। कोर्ट ने कहा कि यदि क्रिकेटर पर मुकदमा चलाया गया तो यह न्याय का उपहास करना होगा क्योंकि उसने किसी दुर्भावना से ऐसा नहीं किया।
सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस मामले में भारतीय दण्ड संहिता की धारा 295ए के तहत मामला नहीं बनता है। जस्टिस दीपक मिश्रा, ए एम खानविल्कर और एम एम शांतानागोदर ने कहा कि यह ‘न्याय का उपहास’ होगा।
इस मामले में धोनी और अन्य लोगों के खिलाफ आंध्र प्रदेश के अनंतपुर के ट्रायल कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। पिछले साल 5 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी राहत देते हुए उनके खिलाफ लोगों की धार्मिक भावना आहत करने के मामले में बेंगलुरु की निचली अदालत में उनके खिलाफ चल रहे मामले को खारिज कर दिया था।
इस मामले में दायर आपराधिक कार्यवाही करने वाली याचिका को कर्नाटक हाई कोर्ट ने खारिज करने से इंकार कर दिया था, जिसके बाद धोनी ने सुप्रीम कोर्ट में विशेष अनुमति याचिका दायर कर कर्नाटक हाई कोर्ट के फैसले को चुनौती दी थी।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *