सुप्रीम कोर्ट ने निरस्‍त किया क्रिकेटर श्रीसंत पर लगा लाइफटाइम बैन

नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट ने क्रिकेटर एस. श्रीसंत को लाइफटाइम बैन मामले में बड़ी राहत दी है। शुक्रवार को कोर्ट ने उन पर लगा लाइफटाइम बैन निरस्त करने का फैसला किया। इसके साथ ही बीसीसीआई को 3 महीने के अंदर इस मामले पर फैसला लेने को कहा है। BCCI के फैसले तक श्रीसंत खेल नहीं पाएंगे।
IPL में स्पॉट फिक्सिंग में नाम सामने आने के बाद BCCI ने उन पर लाइफटाइम बैन लगा दिया था। अपने फैसले में कोर्ट ने कहा, ‘श्रीसंत को दी गई सजा अधिक है। BCCI उनकी सजा पर फिर से विचार करे और 3 महीने के भीतर इस पर निर्णय ले।’
इसके साथ ही कोर्ट ने भी साफ कर दिया कि श्रीसंत का यह कहना बिल्कुल गलत है कि BCCI को उसे सजा देने का अधिकार नहीं है। BCCI को किसी भी मामले में क्रिकेटर पर अनुशासनात्मक कार्यवाही करने का अधिकार होता है।’
श्रीसंत ने कोर्ट के इस फैसले पर संतुष्टि जताई है। उन्होंने कहा, ‘सुप्रीम कोर्ट ने मुझे एक जीवनरेखा दी है। इससे मुझे अपना खोया सम्मान पाने में मदद मिलेगी।’
केरल के 36 वर्षीय इस गेंदबाज ने कहा, ‘मैंने अभ्यास करना शुरू कर दिया है और उम्मीद है कि मैं जल्द ही क्रिकेट खेलने लग जाऊंगा।’ भारत के लिए 27 टेस्ट, 53 एकदिवसीय और 10 टी20 इंटरनैशनल मैच खेलने वाले इस तेज गेंदबाज ने बीसीसीआई से अनुरोध किया कि वह उनकी सजा पर कोई फैसला लेने के लिए पूरे 90 दिनों का समय न ले।
अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 169 विकेट लेने वाले श्रीसंत ने कहा कि वह काफी वक्त से इंतजार कर रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘मैंने काफी लंबा इंतजार किया है। करीब छह साल से इंतजार कर रहा हूं।’ उन्होंने कहा कि मैं क्लब क्रिकेट खेलना शुरू करना चाहता हूं और मुझे अप्रैल में शुरू हो रही स्कॉटिश लीग में खेलने की उम्मीद है।
बता दें कोर्ट के इस फैसले के बाद अभी यह तय नहीं हुआ है कि यह तेज गेंदबाज किसी भी घरेलू या अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अब क्रिकेट खेलने को तैयार है। कोर्ट ने बीसीसीआई को 3 महीने का समय दिया है और साथ ही सजा का समय भी बीसीसीआई ही तय करेगा। उन पर लाइफटाइम बैन को हटा लिया गया है, लेकिन सजा की नई समय-सीमा पर अब बीसीसीआई फिर से कोई फैसला लेगा।
IPL 2013 में श्रीसंत स्पॉट फिक्सिंग मामले में फंसे थे। तब यह खिलाड़ी राजस्थान रॉयल्स का हिस्सा था। इससे पहले केरल हाई कोर्ट ने श्रीसंत पर बीसीसीआई द्वारा लगाए गए आजीवन प्रतिबंध को बरकरार रखा था। इसी फैसले को श्रीसंत ने शीर्ष अदालत में चुनौती दी थी। श्रीसंत के साथ राजस्थान रॉयल्स के अजित चंदेला और अंकित चौहान पर भी बैन लगाया गया था। इसके साथ ही राजस्थान रॉयल्स और चेन्नै सुपर किंग्स को दो साल के लिए आईपीएल से बैन कर दिया गया था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »