सुझाव: गांधी जयंती के दिन 2 अक्टूबर को रेल में नॉनवेज खाना न दिया जाए

नई दिल्ली। रेल मंत्रालय ने केंद्र सरकार के पास गांधी जयंती के दिन 2 अक्टूबर को रेल में नॉनवेज खाना नहीं दिए जाने की सिफारिश की है। अगर यह सुझाव मान लिया जाता है तो अब राष्ट्रपिता की जयंती 2 अक्टूबर न सिर्फ स्वच्छा दिवस के तौर पर मनाई जाएगी बल्कि इसे ‘वेजिटेरियन डे’ के तौर पर भी मनाया जाएगा।
रेलवे ने यह सुझाव राष्ट्रपिता के प्रति सम्मान दिखाने के लिहाज से भेजा है क्योंकि महात्मा गांधी शाकाहार के प्रबल समर्थक थे।
केंद्र सरकार महात्मा गांधी की 150वीं जयंती को खास मनाने के लिए अभी से तैयारी कर रही है। इन्हीं तैयारियों को देखते हुए रेलवे ने यह सुझाव रखा है कि 2018 से 2020 तक रेल में और रेलवे परिसर में 2 अक्टूबर को यात्रियों को नॉनवेज खाना न परोसा जाए। बता दें कि केंद्र सरकार की तरफ से गांधी की 150वीं जयंती को खास बनाने के लिए खास तौर पर एक कमेटी का गठन भी किया गया है।
महात्मा गांधी के जीवन से जुड़े खास स्थलों से रेलवे की कई ट्रेन चलाने की भी योजना है। रेलवे की कोशिश है कि महात्मा गांधी की जयंती के दिन शाकाहार दिवस घोषित करने के साथ साबरमती से एक खास ‘स्पेशल सॉल्ट रेक’ भी चलाई जाई। 12 मार्च को इस साल्ट रेक को बापू के ऐतिहासिक दांडी मार्च के प्रतीक के तौर पर चलाए जाने की योजना है। इसके साथ ही साबरमती से देश के अलग-अलग हिस्सों के लिए स्वच्छता एक्सप्रेस चलाने की भी योजना है।
इसके साथ ही रेलवे की योजना है कि गांधी के वॉटरमार्क वाली तस्वीरों के टिकट भी जारी किए जाएं। केंद्र सरकार के संस्कृति मंत्रालय के पास रेलवे ने यह सुझाव भेजे हैं। संस्कृति मंत्रालय को ही राष्ट्रपिता की 150वीं जयंती के लिए खास इंतजाम करने का दायित्व सौंपा गया है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »