सुदर्शन न्यूज़ के संपादक ने अपनी गिरफ्तारी पर उठाए सवाल

Sudarshan News's Editor raises questions on his arrest
सुदर्शन न्यूज़ के संपादक ने अपनी गिरफ्तारी पर उठाए सवाल

सुदर्शन न्यूज़ के संपादक और सीएमडी सुरेश चव्हाणके ने अपनी गिरफ्तारी पर सवाल उठाए हैं. उत्तर प्रदेश पुलिस ने सुदर्शन न्यूज़ के संपादक और सीएमडी सुरेश चव्हाणके को लखनऊ एयरपोर्ट से गिरफ़्तार किया है.
सुरेश चव्हाणके पर संभल में कई धाराओं के तहत मामला दर्ज है.
संभल के पुलिस अधीक्षक रवि शंकर छवि ने बीबीसी से चव्हाणके की गिरफ़्तारी की पुष्टि करते हुए बताया कि उन पर संभल में भारतीय दंड संहिता की धारा 153ए, 259ए और 505 (1ए) के तहत मामला दर्ज है.
पुलिस के मुताबिक सुरेश चव्हाणके पर समुदायों के बीच नफ़रत फैलाने, धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने और अफ़वाहें फैलाने के आरोप हैं.
पुलिस अधीक्षक के मुताबिक इसी मामले में उनकी गिरफ़्तारी हुई है.
सुरेश चव्हाणके पर आरोप है कि उन्होंने अपने चैनल पर सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने वाली ख़बरें प्रसारित की हैं.
सुरेश चव्हाणके ने 13 अप्रैल को संभल के एक धर्मस्थल में जल चढ़ाने का एलान किया था जिसके बाद एक स्थानीय कांग्रेसी नेता इतरत हुसैन बाबर ने चव्हाणके के संभल पहुंचने की स्थिति में उन पर हमला करने की धमकी दी थी.
पुलिस ने ख़ुद को शहर की जामा मस्जिद का इमाम बताने वाले बाबर को भी एफ़आईआर में नामजद किया है. एक स्थानीय भाजपा नेता का नाम भी एफ़आईआर में है.
चव्हाणके ने कहा है कि उत्तर प्रदेश पुलिस बिना किसी तरह की सुनवाई किए ऐसी कार्यवाही किस तरह कर सकती है.
उत्तर प्रदेश पुलिस ने उन्हें लखनऊ एयरपोर्ट से गिरफ़्तार किया है.
सुरेश चव्हाणके पर संभल में कई धाराओं के तहत मामला दर्ज है. उन पर सांप्रदायिक तनाव फैलाने के आरोप लगाए गए हैं.
उन्होंने कहा, “मैं उत्तर प्रदेश पुलिस से पूछना चाहता हूं कि भारत के विरुद्ध बयान देने वाले तमाम लोग बाहर हैं, भारत के खिलाफ देशद्रोह के आरोप जिन पर लगे हैं वो ओवैसी बाहर हैं, और आपने एक राष्ट्रवादी पत्रकार को अंदर किया है.”
‘योगी जी को मेरी गिरफ्तारी के बारे में नहीं पता’
सुरेश चव्हाणके ने कहा, “उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस बारे में पता नहीं है.”
चव्हाण ने अपने फेसबुक अकाउंट पर उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के नाम पर पत्र लिखकर पोस्ट किया है.
इस पोस्ट में चव्हाणके ने अपने ऊपर हुई कार्यवाही को निरस्त करने की मांग की है.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *