छात्र-छात्राओं ने देहरादून में दवा निर्माण की बारीकियों को समझा

Students understand the nuances of drug manufacturing in Dehradun
छात्र-छात्राओं ने देहरादून में दवा निर्माण की बारीकियों को समझा

मथुरा। पाठ्य पुस्तकें जहां ज्ञानार्जन के लिए जरूरी हैं वहीं शैक्षणिक भ्रमण छात्र-छात्राओं को करियर संवारने का मूलमंत्र साबित होता है। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए आर.के. एजूकेशन हब के शिक्षा संस्थान राजीव एकेडमी फार फार्मेसी द्वारा बी-फार्मा चतुर्थ वर्ष के छात्र-छात्राओं को देहरादून स्थित इपका फार्मास्यूटिकल लिमिटेड का शैक्षणिक भ्रमण कराया गया। इस शैक्षणिक भ्रमण के दौरान विद्यार्थियों ने दवा निर्माण की बारीकियों को समझा। इस शैक्षणिक भ्रमण का संचालन मनीष पाल सिंह एवं नितिन मित्तल द्वारा किया गया।

अपने शैक्षणिक भ्रमण में छात्र-छात्राओं द्वारा देहरादून की इपका फार्मास्यूटिकल लिमिटेड कम्पनी में टैबलेट, कैप्सूल एवं सीरप सेक्शन से उत्पादन सम्बन्धी जानकारियाँ जुटाई गईं। कम्पनी के अधिकारियों ने राजीव एकेडमी फार फार्मेसी के विद्यार्थियों को मार्केटिंग, मैन्यूफैक्चरिंग आदि से सम्बन्धित जानकारियाँ भी प्रदान कीं। भ्रमण के दौरान विद्यार्थियों ने देहरादून स्थित फारेस्ट रिसर्च इंस्टीट्यूट के संग्रहालय का भी अवलोकन किया।

संस्थान के चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल ने कहा कि विद्यार्थियों के सुनहरे भविष्य के लिए पढ़ाई के साथ-साथ भ्रमण का भी अपना महत्व है। डा. अग्रवाल ने कहा कि पाठ्य-पुस्तकों से प्राप्त ज्ञान से सिर्फ मार्गदर्शन मिलता है लेकिन शैक्षणिक भ्रमण से मिला ज्ञान चिरस्थायी होता है। छात्र-छात्राओं ने देहरादून की इपका फार्मास्यूटिकल लिमिटेड कम्पनी में दवा निर्माण के बारे में जो कुछ सीखा है, वह उनके करियर निर्माण में मील का पत्थर साबित होगा।

संस्थान के प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल ने कहा कि छात्र-छात्राओं को देहरादून की इपका फार्मास्यूटिकल लिमिटेड कम्पनी का भ्रमण कराने का उद्देश्य छात्र-छात्राओं को हकीकत से रूबरू कराना है। आखिर पढ़ाई के बाद छात्र-छात्राओं को कहीं न कहीं सेवा का अवसर मिलेगा, जहां उन्हें दवा निर्माण के साथ इनकी उपयोगिता का ज्ञान जरूरी होगा।

संस्थान के निदेशक डा. विनय चावला का कहना है कि विद्यार्थियों को इस शैक्षणिक भ्रमण का लाभ जरूर मिलेगा। शैक्षणिक भ्रमण पर गये छात्र-छात्राओं का कहना है कि दवा निर्माण की जो जानकारी उन्हें मिली हैं, उनका उन्हें भविष्य में अवश्य लाभ मिलेगा। छात्र-छात्राओं ने बताया कि देहरादून की इपका फार्मास्यूटिकल लिमिटेड कम्पनी से मिली जानकारी पुस्तकों से प्राप्त ज्ञानार्जन से कहीं अधिक उपयोगी साबित हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *