व्यक्तिगत वित्त प्रबंधन से रूबरू हुए GL बजाज के विद्यार्थी

मथुरा। मंगलवार को GL बजाज ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूशंस के स्कूल ऑफ मैनेजमेंट द्वारा कोविड-19 के पश्चात व्यक्तिगत वित्त प्रबंधन में अवसर एवं चुनौतियां विषय पर एक वेबिनार का आयोजन किया गया। मुख्य वक्ता पराग गौतम ट्रेनर सेबी, एनसीईएफ, आईआईसीए ने छात्र-छात्राओं को निवेश और उसके बेहतर प्रबंधन के गुर बताए।

श्री गौतम ने छात्र-छात्राओं को वैश्विक महामारी कोरोना के पश्चात व्यक्ति विशेष को किन-किन क्षेत्रों में निवेश करना चाहिये इस पर विस्तार से जानकारी दी। इतना ही नहीं, श्री गौतम ने निवेश और उसके बेहतर प्रबंधन के उपाय भी बताए। उन्होंने कहा कि व्यक्तियों को अपना निवेश विभिन्न प्रकार की श्रेणियों में बांटकर तथा अपनी उम्र को ध्यान में रखते हुए करना चाहिए। श्री गौतम ने कहा कि यदि निवेशकर्ता की उम्र ज्यादा है तो उसे रिस्क फ्री-सिक्योरिटीज में ज्यादा निवेश करना चाहिए।

गौतम ने बताया कि वर्तमान समय में सभी बाजार अपने निम्नतम स्तर पर हैं ऐसे में निवेशक को अपने अनावश्यक खर्चों को कम करके कुछ न कुछ बाजार में अवश्य निवेश करना चाहिए। उन्होंने निवेशकर्ताओं से वर्तमान एवं वैश्विक महामारी के पश्चात धैर्य एवं संयम के साथ निवेश करने पर भी बल दिया। इस वेबिनार में विभागाध्यक्ष प्रो. गजल सिंह, डॉ. रचित गुप्ता, प्रो. जितेन्द्र सिंह, विपिन रावत व अन्य शिक्षकों के साथ-साथ छात्र-छात्राओं ने सहभागिता की।

संस्थान के निदेशक डॉ. एलके त्यागी ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते जब शैक्षिक संस्थान बंद है ऐसे समय में छात्र-छात्राओं को शैक्षिक गतिविधियों से जोड़े रखना निहायत जरूरी है। GL बजाज संस्थान अपनी आधुनिकतम तकनीक के माध्यम से लगातार छात्र-छात्राओं को घर बैठे बेहतर शैक्षिक ज्ञानार्जन करा रहा है ताकि इस संक्रमणकाल का उन पर कम से कम असर हो। आर. के. एजुकेशन हब के अध्यक्ष डाॅ. रामकिशोर अग्रवाल, उपाध्यक्ष पंकज अग्रवाल तथा चेयरमैन मनोज अग्रवाल का कहना है कि GL बजाज संस्थान के प्राध्यापकों की लगन और मेहनत से छात्र-छात्राओं को निरंतर पठन-पाठन का लाभ मिल रहा है। यहां के छात्र-छात्राएं भी प्राध्यापकों से सम्पर्क में रहते हुए भविष्य की अपनी शैक्षिक योजनाओं को मूर्तरूप दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *