छात्र-छात्राएं अपने पैशन को बनाएं करियर- Dr. Rana Singh

Dr. Rana Singh ने कहा कि परीक्षा में कम अंक मिलने पर भी करियर के आप्शंस खत्म नहीं होते

मथुरा। आज प्रतिस्पर्धा का दौर है। करियर के अनगिनत आप्शंस होने के चलते छात्र-छात्राओं की समझ में ही नहीं आता कि वह किस विषय का चुनाव करें। ऐसी स्थिति में प्रायः देखने में आता है कि युवा अपने साथियों का अंधानुकरण कर बैठते हैं, जोकि उचित नहीं है। अगर आपको करियर में सफलता के नए मुकाम को छूना है तो अपने आपको खुद चैलेंज करें और अपने पैशन को ही अपना करियर बनाएं। उक्त विचार गुरुवार को संस्कृति यूनिवर्सिटी का शैक्षणिक भ्रमण करने आए सेठ श्यामलाल इंटर कालेज, सिकंदरा, आगरा के छात्र-छात्राओं को सम्बोधित करते हुए कुलपति Dr. Rana Singh ने व्यक्त किए।

Dr. Rana Singh ने कहा कि 12वीं के बाद हर छात्र के सामने यह सवाल खड़ा होता है कि वह किस विषय में आगे की पढ़ाई करे, किस कोर्स को करने के बाद नौकरी जल्दी और अच्छी मिलेगी। डा. सिंह ने कहा कि परीक्षा में कम अंक मिलने पर भी करियर के आप्शंस खत्म नहीं होते। दरअसल हर छात्र अपनी क्षमता अनुसार बहुत कुछ कर सकता है। उन्होंने कहा कि छात्र-छात्राएं सबसे पहले यह तय करें कि आखिर उनकी पसन्द का क्षेत्र कौन सा है। अपनी पसंद के विषय का चयन करने के बाद ऐसी संस्था में प्रवेश लें जहां उनके सपनों को साकार करने की उचित व्यवस्थाएं हों।

इस अवसर पर डा. नीरज शर्मा ने कहा कि कोई भी कोर्स अच्छा या खराब नहीं होता, सभी क्षेत्रों में अवसरों के ढेर सारे विकल्प हैं, बस आपको उन अवसरों को पहचान कर सही दिशा में मेहनत करने की जरूरत है। बच्चों अगर आप सच में खुद में सुधार लाना चाहते हैं तो आपको अपने कम्फर्ट जोन से बाहर निकलना होगा। आपको कुछ ऐसा करना होगा जो चुनौतीपूर्ण हो। इससे आपकी स्किल को बढ़ावा मिलेगा और आप ज्यादा कॉन्फिडेंट होंगे। 12वीं की पढ़ाई खत्म करने के बाद अगर आपको घूमना पसंद है तो टूरिज्म कोर्स अच्छा विकल्प है। अगर आपका सपना बचपन से ही इंजीनियर बनने का रहा है और कॉलेज में एडमीशन नहीं ले पा रहे हैं तो आप इंजीनियरिंग का डिप्लोमा कर इंजीनियरिंग के क्षेत्र में अच्छा पैसा कमा सकते हैं।

डा. शर्मा ने कहा कि 12वीं के बाद होटल मैनेजमेंट कोर्स भी अच्छा विकल्प है, यह काफी पॉपुलर भी हो रहा है। 12वीं के बाद इस कोर्स को करने के बाद आप किसी भी बड़े होटल में नौकरी कर अच्छा पैसा कमा सकते हैं। इसके अलावा आप कम्प्यूटर अकाउंटिंग कोर्स, इंटीनियर डिजाइनिंग, कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग, फूड मैनेजमेंट आदि, बी.फार्मा, डी.फार्मा कोर्स भी कर सकते हैं। डा. शर्मा ने छात्र-छात्राओं को संस्कृति यूनिवर्सिटी में संचालित विभिन्न कोर्सों की विस्तारपूर्वक जानकारी दी। छात्र-छात्राओं ने कई सवाल भी किए जिनका प्राध्यापकों ने समाधान किया। इस अवसर पर एडमीशन हेड विजय सक्सेना, अंकुर मिश्रा आदि ने छात्र-छात्राओं को यूनिवर्सिटी की प्रयोगशालाएं, सेण्टर आफ एक्सीलेंस आदि का भ्रमण कराया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »