संस्कृति विव में छात्रों ने बताए कचरे को Recycle करने के तरीके

मथुरा। संस्कृति विश्वविद्यालय में चल रहे स्वच्छता पखवाड़े के तहत छात्र-छात्राओं ने कैंपस में सफाई अभियान चलाया। झाड़ू लेकर कचरा साफ किया। इसी क्रम में विश्वविद्यालय के सभागार में कचरे को Recycle करने के तरीके बताए।

सभागार में उपस्थित विवि के एग्रीकल्चर विभाग के डीन डाॅ. जयदेव शर्मा तथा एचओडी डाॅ. एनएन सक्सैना ने कहा कि स्वच्छता हमारे घर एवं सड़क के लिए जरूरी नहीं होती, यह देश और राष्ट्र की आवश्यकता भी है। भारत सरकार द्वारा शुरू किया गया स्वच्छ भारत अभियान हमारे देश के प्रत्येक गांव और शहर में प्रारंभ किया गया है। इस अभियान के तहत सभी एकजुट होकर अपने आसपास के वातावरण को स्वच्छ और सुंदर बनाने में जुटे हुए हैं। ऐसा करने से हमारे देश का बुनियादी ढांचा बदलेगा, विदेशों में भारत की छवि बदलेगी। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महात्मा गांधी की जयंती 2 अक्टूबर को स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत की थी।

छात्र-छात्राओं ने अपने प्रजेंटेशन देते हुए बताया कि वो कचरा जो किसी भी देश के लिए मुसीबत बनता है उसको Recycle कर बहुत सारी काम की चीजें बनाई जा सकती हैं। अलग-अलग कचरे को रिसाइकिल करने के अलग-अलग तरीके हैं। बहुत सा कचरा ऐसा होता है जिसको रिसाइकिल कर उपयोगी खाद तैयार की जा सकती है। बहुत सारे कचरे का इस्तेमाल कर उपयोगी गैस बनाई जा सकती है। व्यावसायिक उद्देश्य भी पूरे किए जा सकते हैं। इससे न केवल हम अपने चारों ओर फैले कचरे से मुक्त हो सकते हैं वरन उसको रिसाइकिल कर अपने जीवन में उपयोगी वस्तुएं भी हासिल कर सकते हैं। इस मौके पर विवि के शिक्षक डाॅ. गौरव व डाॅ. मुकेश ने भी विचार व्यक्त किए।

दूसरी ओर अभियान के तहत विश्वविद्यालय के कैंपस वन और टू में शिक्षकों के नेतृत्व में छात्र-छात्राओं ने सफाई अभियान चलाया। कैंपस वन में सिविल इंजीनियरिंग के छात्र शैलेंद्र कुमार, धर्मेंद्र, रमेश दाहाल, वेदानंद आदि ने सफाई अभियान में भाग लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *