संस्कृति विवि में छात्र-छात्राओं ने नाच-गाकर मनाई Lohri

मथुरा। संस्कृति विश्वविद्यालय के मैदान में सोमवार रात को छात्र-छात्राओं ने जमकर नाच-गानों के साथ Lohri का त्योहार मनाया। नाचते हुए जलती हुई अग्नि के चक्कर लगाए और सामूहिक रूप से पारंपरिक गीत ‘सुंदर मुंदरिये नी’ गाया।

छात्र-छात्राओं ने Lohri की तैयारियां शाम से ही शुरू कर दी थीं। मैदान में लकड़ियां एकत्र कर लोहडी तैयार की गई थी। पारंपरिक तौर पर लोहड़ी फसल की बुवाई और उसकी कटाई से जुड़ा एक विशेष त्योहार है। इस मौके पर पंजाब में नई फसल की पूजा करने की परंपरा है। इस दिन चौराहों पर लोहड़ी जलाई जाती है। इस आग के पास पुरुष लोग भांगड़ा करते हैं, वहीं महिलाएं पंजाब का प्रसिद्ध नृत्य गिद्दा करती हैं। इस दिन तिल, गुड़, गजक, रेवड़ी और मूंगफली का भी खास महत्व होता है। विश्वविद्यालय में पंजाबी छात्र-छात्राओं में सुबह से ही त्योहार को लेकर विशेष उत्साह था। उनके साथ अन्य विद्यार्थियों ने भी समान रूप से मिलकर त्योहार मनाय़ा।

विश्वविद्यालय के कुलपति डा. राणा सिंह ने लोहड़ी में अग्नि प्रज्ज्वलित की और इसी के साथ ही छात्र-छात्राओं ने नृत्य करना शुरू कर दिया। रात के साथ ही भांगड़ा की धमाचौकड़ी शुरू हो गई। सभी ने एक दूसरे को लोहड़ी की शुभकामनाएं दीं। विवि की विशेष कार्याधिकारी श्रीमती मीनाक्षी शर्मा ने सभी को लोहड़ी की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि ये त्योहार हमारे जीवन में उत्साह और जीवंतता भरते हैं। हम सभी को एक साथ मिलकर त्योहारों में भाग लेना चाहिए।

– Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »