मुंबई में Heavy rains से सड़कें जाम, ट्रेनें लेट, हवाई सेवा भी प्रभावित

मुंबई। मुंबई में Heavy rains से सड़कें जाम, ट्रेनें लेट, हवाई सेवा भी प्रभावित हुई है।  मुंबई में मॉनसून के आते ही पूरा शहर पानी-पानी हो गया है। क्या सड़क, क्या गली हर तरफ सिर्फ पानी ही पानी नजर आ रहा है। बारिश बीती रात से लगातार हो रही है। मुसलाधार बारिश को देखते हुए बीएमसी ने एहतियात बरतने के निर्देश जारी कर दिये हैं। इतना ही नहीं बारिश की वजह से न सिर्फ यातायात बल्कि रेल और हवाई सेवा भी बाधित हुई है। मुंबई में देर रात से रूक रूक कर बारिश हो रही है जो अभी भी जारी है। मुंबई के कई इलाकों में हल्की बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने 48 घंटे का अलर्ट जारी किया है।

मौसम विभाग ने पूर्वानुमान जारी किया है कि पूरे सप्ताह तक मुंबई में मुसलाधार बारिश होगी। मुंबई की में इतनी तेज मुसलाधार बारिश हो रही है कि करीब 32 फ्लाइट्स की उड़ान में देरी की गई है कुछ फ्लाइट्स को तो रद्द कर दिया गया है। यहां तक की लोकल ट्रेनें भी करीब 10 से 15 मिनट की देरी से चल रही हैं।

मौसम विभाग के इस अलर्ट के बाद सवालों के घेरे में रही बीएमसी भी अलर्ट हो गई है। फिर से मुंबई पानी पानी ना हो इसके लिए बीएमसी ने खास इंतेजाम किए हैं। उनकी मानें तो जल भराव के हालात से बचने के लिए मेनहोल और गटर की सफाई की गई है। 1400 मेनहोल की मरम्मत कर जाली लगाई है और लो लाइन इलाकों से पानी निकालने के लिए पम्प लगाए गए हैं। 225 लो लाइन इलाकों में 298 वाटर पम्प लगाए गए हैं। वहीं सड़कों के गड्ढ़ों को भरा गया है और टूटी हुई सड़कों की मरम्मत भी की गई है।

भारतीय मौसम विभाग ने मुंबई सहित महाराष्ट्र के उत्तरी तटीय क्षेत्र में बुधवार से 12 जून तक तेज बारिश होने का पूर्वानुमान जताया है, वहीं, दूर-दराज क्षेत्र में भारी बारिश हो सकती है।

जिस तरह की तैयारियों का दावा किया गया है उनसे लगता है इस बार मुंबई में बारिश आने पर पानी नहीं भरेगा लेकिन अब भी कई ऐसे लो लाइन इलाके हैं जहां लोगों का आरोप है कि वहां बीएमसी ने कुछ काम नहीं किया। मेनहोल गटर की सफाई तो छोडिये, मेनहोल के टूटे ढक्कन की मरम्मत तक नहीं करवाई गई है।

बरसात में पुरानी इमारतों के गिरने का डर भी बना रहता है, बीएमसी पर आरोप ये भी है कि बीएमसी जर्जर हालत वाली इमारतों को सिर्फ नोटिस थमा देती है लेकिन इमारत को खाली कराने पर कोई कार्रवाई नहीं होती।

Heavy rains के बाद मुंबई के समंदर में हाई टाइड का खतरा बना रहता है ऐसे में बीएमसी समंदर किनारे चेतावनी के बोर्ड लगाती है कि समंदर में अदंर की तरफ ना जाएं लेकिन लोगों का आरोप है इस बार अभी तक बीएमसी ने हाई टाईड को लेकर भी कोई तैयारी नहीं की है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »