बॉल टैंपरिंग मामले में Steve Smith, वॉर्नर और बैनक्रॉफ्ट पर जारी रहेगा बैन

मेलबर्न। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया (CA) ने Steve Smith, डेविड वॉर्नर और कैमरुन बैनक्रॉफ्ट के ऊपर बॉल टैंपरिंग मामले में लगे प्रतिबंध को जारी रखने के फैसला लिया है।

ऑस्ट्रेलिया क्रिकेटर्स एसोसिएशन (एसीए) ने सीए से खिलाड़ियों पर से प्रतिबंध हटाने की मांग की थी। सीए ने इस पर विचार करने के लिए हामी भर दी थी, लेकिन फैसला इन खिलाड़ियों के पक्ष में नहीं हो पाया है।

इन तीनों खिलाड़ियों पर दक्षिण अफ्रीका के केपटाउन में इसी साल मार्च में खेले गए टेस्ट मैच में गेंद से छेड़छाड़ के कारण प्रतिबंध लगा था। Steve Smith और वॉर्नर पर सीए ने एक-एक साल का प्रतिबंध लगाया था तो वहीं बैनक्रॉफ्ट पर नौ महीने का प्रतिबंध है। इसके बाद से इन खिलाड़ियों के बैन को हटाने के लिए कई कोशिशें भी हुई थीं, लेकिन इनकी वापसी नहीं हो पाई।

अब सीए के अंतरिम चेयरमैन अर्ल एडिंग्स का कहना है कि प्रतिबंध कम किए जाने से प्रतिबंधित खिलाड़ियों और पूरी आस्ट्रेलियाईटीम पर दबाव बढ़ सकता है।

इस मामले की जांच के लिए गठित की गई स्वतंत्र समिति ने विवाद के लिए ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट की हर हाल में जीत हासिल करने की संस्कृति को जिम्मेदारी ठहराया था। समिति की रिपोर्ट के बाद ऑस्ट्रेलिया क्रिकेटर्स एसोसिएशन (एसीए) ने सीए से खिलाड़ियों पर से प्रतिबंध हटाने की मांग की थी। सीए ने इस पर विचार करने के लिए हामी भर दी थी लेकिन फैसला इन खिलाड़ियों के पक्ष में नहीं हो पाया है।

सीए के अंतरिम समिति ने एक बयान में कहा, ‘क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया बोर्ड ने इस मुद्दे के सभी पहलुओं पर ध्यान से विचार किया है। सारे पहलुओं पर बात करने के बाद सीए ने यह फैसला लिया है कि तीनों खिलाड़ियों की सजा में कटौती कनरा सही नहीं है। इसलिए Steve Smith, डेविड वॉर्नर और कैमरुन बैनक्रॉफ्ट पर बैन बना रहेगा और उन्हें अपनी सजा पूरी करनी होगी।’

बता दें कि स्मिथ और वॉर्नर इस समय अपने प्रतिबंध के आठवें महीने में हैं और जबकि बैनक्रॉफ्ट का प्रतिबंध दिसंबर में समाप्त हो जाएगा। भारत और ऑस्ट्रेलिया की सीरीज 21 नवंबर से शुरू होगी, जिसमें तीन टी-20 अंतरराष्ट्रीय, चार टेस्ट और तीन वनडे इंटरनेशनल मैच खेले जाएंगे। यह दौरा 21 जनवरी को खत्म होगा। स्मिथ और वॉर्नर पर लगा प्रतिबंध अप्रैल 2019 तक प्रभावी रहेगा। स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर के टीम में ना होने की वजह से ऑस्ट्रेलियाई टीम को कमजोर बताया जा रहा है।

क्या था मामला
बता दें कि सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें बैनक्रॉफ्ट को गेंद पर सेंडपेपर रगड़ रहे हैं। बैनक्राफ्ट को गेंद को खराब करते पकड़ने के बाद कोच लैहमैन ने वॉकी-टॉकी पर हैंड्सकोंब को कुछ निर्देश दिए। इसके बाद हैंडस्कोंब को बैनक्राफ्ट से मैदान पर बातचीत करते दिखाया गया है। बैनक्राफ्ट सैंड पेपर को अपनी पेंट में छिपा रहे हैं। इस मामले के तूल पकड़ने के बाद ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव स्मिथ ने इस मामले की पूरी जिम्मेदारी अपने ऊपर ले ली थी। वहीं, डेविड वॉर्नर का नाम मुख्य साजिशकर्ता के तौर पर सामने आया था।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »