प्रवासी भारतीय दिवस समारोह में कुम्भ की भी ब्रांडिंग करेगी राज्य सरकार

लखनऊ। वाराणसी में होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस के साथ-साथ राज्य सरकार कुम्भ की भी ब्रांडिंग करेगी। 21 जनवरी से 23 जनवरी, 2019 के बीच होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस में आने वाले लोगों को कुम्भ मेला क्षेत्र भी घुमाया जाएगा। इसके लिए ट्रेन की व्यवस्था भी की जाएगी। 15वें प्रवासी भारतीय दिवस को अब तक सबसे सफल आयोजन बनाने के लिए राज्य सरकार ने तैयारियां शुरू कर दी हैं।
प्रवासी भारतीय दिवस-2019 की तैयारियों को लेकर मुख्य सचिव ने डॉ. अनूप चन्द्र पांडे ने अधिकारियों के साथ बैठक की। मुख्य सचिव ने कार्यक्रम की तैयारी और कार्य योजना के सम्बंध में भारत सरकार और प्रदेश सरकार के बीच होने वाले एमओयू को जल्द साइन करने के निर्देश दिए।
6 अगस्त तक व्यय का प्रस्ताव भेजें सभी विभाग
मुख्य सचिव ने प्रवासी भारतीय दिवस के आयोजन से जुड़े सभी विभागों को 6 अगस्त तक बजट अनुमान वित्त विभाग को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। मुख्य सचिव ने कहा कि कार्यक्रम का भव्य आयोजन कराने के लिए सबसे बेहतर व्यवस्थाएं करवाई जाएंगी। इस आयोजन की तैयारियों को लेकर पिछले महीने ही यूपी सरकार के एक प्रतिनिधिमंडल ने अमेरिका के तीन शहरों का दौरा किया था। इस दौरान अधिकारियों ने अप्रवासी भारतीयों को प्रवासी भारतीय दिवस और कुम्भ में शामिल होने का न्योता दिया था।
ट्रेड फैसिलिटेशन सेंटर, मिनी स्टेडियम में होगा आयोजन
15वें प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन वाराणसी में नए बने ट्रेड फैसिलिटेशन सेंटर और मिनी स्टेडियम में किया जाएगा। इस आयोजन में 5000 अप्रवासी भारतीयों, 2000 युवा प्रवासियों और लगभग 1000 गणमान्य लोगों के शामिल होने की उम्मीद है। कार्यक्रम का उद‌्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और समापन राष्ट्रपति करेंगे।
बैठक के दौरान मुख्य सचिव ने एनआरआई विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया कि यूथ प्रवासी दिवस 2019 में यूपी की ओर से लगभग 1000 युवाओं की भागीदारी सुनिश्चित करवाई जाए। तैयारियों को लेकर आयोजित बैठक में मुख्य सचिव ने प्रवासी भारतीयों को ठहरने के लिए वाराणसी के अच्छे होटलों में कमरे बुक करने, स्विस कॉटेज और डॉरमेट्री की व्यवस्था करने के निर्देश दिए।
बैठक में अपर मुख्य सचिव, सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, प्रमुख सचिव, औद्योगिक विकास आरके सिंह, प्रमुख सचिव गृह अरविन्द कुमार, विशेष सचिव, औद्योगिक विकास एवं एनआरआई अरुण कुमार, सूचना निदेशक डॉ. उज्ज्वल कुमार समेत कई विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *