चम्मच-कांटे के बजाय हाथ से खाना शुरू कीजिए, वजन होगा कम

खाते वक्त जमीन पर बैठने से लेकर जल्दी डिनर कर लेने तक पुराने जमाने के लोग जिन बातों को फॉलो करते थे उनके पीछे खास वजह होती थी। डेली रुटीन में शामिल ये साधारण चीजें हेल्थ के काफी अच्छी होती हैं। हालांकि वेस्टर्नाइजेशन के चलते धीरे-धीरे ये ट्रडिशंस गायब हो चुके हैं।
क्या कहता है आयुर्वेद
अगर आपका वजन ज्यादा है तो चम्मच-कांटे के बजाय हाथ से खाना शुरू कीजिए।
आयुर्वेद के मुताबिक जब आप खाने का निवाला लेने के लिए उंगलियों को जोड़ते हैं तो इससे योगिक मुद्रा बन जाती है जो कि आपके सेंसरी ऑर्गन्स को ऐक्टिवेट करती है।
5 उंगलियां, 5 तत्व
माना जाता है कि हर उंगली पांचों तत्वों का रूप होती है। अंगूठा आकाश, पहली उंगली हवा, बीच की उंगली आग, रिंग फिंगर पानी और सबसे छोटी उंगली धरती को रिप्रजेंट करती है।
डाइजेशन होता है बेहतर
जब उंगलियां आपके खाने को छूती हैं तो आप खाने के टेक्सचर, स्वाद के लिए अपने आप ही ज्यादा सजग हो जाते हैं। साथ ही हाथ से खाना खाने से दिमाग को तेजी से सिग्नल मिलता है कि आप खाने वाले हैं इससे डाइजेशन का प्रॉसेस तेज होता है।
वजन रहता है कंट्रोल
जब आप चम्मच से खाते हैं तो खाना तेजी से खाने लगते हैं जिससे ज्यादा खा लेते हैं। वहीं हाथ से खाने पर आपकी स्पीड कम हो जाती है और संतुष्टि का अहसास होता है । इसमें ज्यादा सेंसेज इन्वॉल्व होते हैं तो आपका पोर्शन कंट्रोल रहता है। इससे न सिर्फ आपका वजन नियंत्रित रहता है बल्कि खाने का स्वाद भी ज्यादा मिलता है।
क्या करें
अगर आपको हाथ से खाने की आदत नहीं है तो थोड़ी प्रैक्टिस से आपकी मुश्किल आसान हो सकती है लेकिन खाने से पहले हाथों को अच्छी तरह धोना न भूलें। इन्फेक्शन से बचने के लिए नाखून भी कटे होने चाहिए।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »