वाजपेयी के आवास के बाहर बनाई जा रही है स्टेज, रिश्तेदारों को भी दिल्ली बुलाया

नई दिल्‍ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के आवास के बाहर स्टेज बनाया जा रहा है। इतना ही नहीं, अटल के रिश्तेदारों को भी दिल्ली बुला लिया गया है।
पिछले करीब 2 महीनों से AIIMS में भर्ती पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की हालत नाजुक बनी हुई है। एम्स की ताजा बुलेटिन के मुताबिक उनकी सेहत में कोई सुधार नहीं आया है।
उधर, अनहोनी की आशंका से घबराए नेताओं का एम्स पहुंचने का सिलसिला जारी है। एम्स के शव लेपन विभाग के बाहर पुलिस तैनात कर दी गई है। सुरक्षा जांच भी की जा रही है।
एनडीए के मुख्यमंत्री भी अपने पूर्वनिर्धारित कार्यक्रम रद्द कर दिल्ली पहुंच रहे हैं। 17 और 18 अगस्त को होने वाली बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक रद्द कर दी गई है। बीजेपी दफ्तर में भी हलचल बढ़ गई है। मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि पूर्व पीएम वाजपेयी के आवास की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।
आपको बता दें कि वाजपेयी की हालत बुधवार रात से ही गंभीर बनी हुई है। गुरुवार सुबह उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी व मुरली मनोहर जोशी, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह अटल का हाल जानने पहुंचे थे। पीएम मोदी दोबारा अटल बिहारी वाजपेयी से मिलने पहुंचेंगे। राहुल गांधी, अरविंद केजरीवाल, फारूक और उमर अब्दुल्ला जैसे विपक्षी नेताओं ने भी एम्स में अटल का हाल चाल लिया है। इसके अलावा ममता बनर्जी भी दिल्ली पहुंचने वाली हैं।
बीजेपी ने रद्द किए सारे कार्यक्रम
अटल की सेहत में सुधार के लिए बीजेपी नेता प्रार्थना कर रहे हैं। उनकी हालत को देखते हुए बीजेपी ने गुरुवार के अपने सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं। इसके अलावा बीजेपी ने 17 और 18 अगस्त को होने वाली राष्ट्रीय कार्यकारिकी की बैठक भी रद्द कर दी है। यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी ऐसा ही फैसला किया है। यूपी, बिहार सरकार और बीजेपी नेताओं का आज कोई कार्यक्रम नहीं होगा। देशभर में उनकी सेहत में सुधार के लिए प्रार्थना हो रही है।
अटल के घरपर भी सुरक्षा बढ़ी
अटल की सेहत में सुधार न होने की खबर के बाद उनके आवास पर भी काफी भीड़ जमा है। इसे देखते हुए अब दोनों तरफ के रास्ते को रोका गया है। पैरा मिलिट्री फोर्स की टुकड़ी और दिल्ली पुलिस की मूवमेंट भी वहां बढ़ी है।
इससे पहले बुधवार शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने AIIMS पहुंचकर बीजेपी के शिखर पुरुष का हाल जाना। प्रधानमंत्री मोदी रात करीब सवा 7 बजे AIIMS पहुंचे। वह करीब 10 मिनट तक अस्पताल में रहे और वाजपेयी का इलाज कर रहे डॉक्टरों से मुलाकात कर पूर्व पीएम का हाल जाना। मोदी के अलावा जितेंद्र सिंह, राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी, सुरेश प्रभु आदि बुधवार को एम्स पहुंचे थे।
एम्स ने बुधवार को जारी प्रेस रिलीज में बताया था, ‘पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी पिछले 9 सप्ताह से AIIMS में भर्ती हैं। पिछले 24 घंटों में दुर्भाग्य से उनकी स्थिति और बिगड़ी है। उनकी हालत नाजुक है और वह लाइफ सपॉर्ट सिस्टम पर हैं।’
वाजपेयी को गुर्दा (किडनी) नली में संक्रमण, छाती में जकड़न, मूत्रनली में संक्रमण जैसी स्वास्थ्य समस्याओं के बाद 11 जून को AIIMS में भर्ती कराया गया। सूत्रों ने बताया कि उनकी हालत गंभीर है। वह वेंटिलेटर सपॉर्ट पर रखे गए हैं और सीएन टावर स्थित आईसीयू में डॉक्टरों की एक टीम लगातार उनकी हालत पर नजर रखी हुई है। मधुमेह के शिकार 93 वर्षीय BJP नेता का एक ही गुर्दा काम करता है। 2009 में उन्हें स्ट्रोक आया था जिसके बाद उनकी सोचने-समझने की क्षमता कमजोर हो गई। बाद में वह डिमेंशिया से भी पीड़ित हो गए। जैसे-जैसे उनकी सेहत गिरती गई, धीरे-धीरे उन्होंने खुद को सार्वजनिक जीवन से दूर कर लिया।
वाजपेयी 3 बार प्रधानमंत्री रहे। वह पहली बार 1996 में प्रधानमंत्री बने और उनकी सरकार सिर्फ 13 दिनों तक ही रह पाई। 1998 में वह दूसरी बार प्रधानमंत्री बने, तब उनकी सरकार 13 महीनों तक चली थी। 1999 में वाजपेयी तीसरी बार प्रधानमंत्री बने और 5 सालों का कार्यकाल पूरा किया। 5 साल का पूर्ण कार्यकाल पूरा करने वाले वह पहले गैरकांग्रेसी प्रधानमंत्री हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »