श्रीकृष्‍ण-जन्मस्थान परिसर में श्रीरामकथा का आयोजन 11 अप्रैल से

AtulKrishna-maharaj
श्रीकृष्‍ण-जन्मस्थान परिसर में श्रीरामकथा का आयोजन 11 अप्रैल से

मथुरा। श्रीकृष्‍ण-जन्मस्थान परिसर में श्रीरामकथा का आयोजन 11 अप्रैल से 19 अप्रैल तक किया जाएगा जिसमें सुप्रसिद्ध मानस मर्मज्ञ श्री अतुलकृष्‍ण द्वारा श्रीरामकथा सुनाई जाएगी।

इस संबंध में बुलाई गई पत्रकार वार्ता में श्रीराम कथा आयोजन समिति के उपाध्यक्ष गोपेश्‍वरनाथ चतुर्वेदी ने बताया कि हिन्दू समाज पर कालान्तर में विभिन्न संकट आते रहे हैं, जिससे हमारा देश बार-बार कमजोर हुआ है व सीमायें सिकुड़ी हैं। इस संदर्भ में मीनाक्षीपुरम्, मोपलाविद्रोह, कश्‍मीर घाटी से पलायन व कंधमाल आदि की घटनायें हमारे सामने हैं। हमारे राष्‍ट्र को भीतर और बाहर से अनेक चुनौतियां मिल रही हैं, अनेक प्रकार के संकट हमारे समक्ष हैं।

उक्त जानकारी देते हुए अयोजन समिति के उपाध्यक्ष गोपेश्‍वरनाथ चतुर्वेदी ने बताया कि कुछ राष्‍अ्र विरोधी शक्तियां भारत को खण्ड खण्ड करने के योजनाबद्ध षडयंत्रों के तहत अपनी जनसंख्या के विस्तार में निरंतर प्रयत्नशील हैं ।

श्री चतुर्वेदी ने कहा कि धर्म के जागरण से अर्थात अपनी अस्मिता के जागरण से मतान्तरण तो रुकेगा ही हमसे बिछुड़े जन वापस अपने समाज में लौट सकेंगे । यह कार्य काफी श्रमसाध्य है। आज हिन्दू समाज में व्याप्त भ्रूणहत्या, दहेजप्रथा, छुआछूत जैसी कुरीतियां व्याप्त हैं ।

श्री चतुर्वेदी ने बताया कि बाल्यकाल से धर्म की शिक्षा मिले, विशेषकर बेटियों का योग्य प्रशिक्षण हो, उसके लिए धर्मजागरण के प्रषिक्षित कार्यकर्ता गांव-गांवमें धर्म-जागरण समितियां बनाकर विभिन्न प्रकार के कार्यक्रमों के माध्यम से यह कार्य कर रहे हैं, इन्हीं कार्यक्रमों में से एक कार्यक्रम संतों द्वारा कथाओं के माध्यम से संस्कार व धर्म की शिक्षा के प्रचार-प्रसार का कार्य धर्म जागरण विभाग करता है ।

इसी क्रम में मथुरा में श्रीकृष्‍ण-जन्मस्थान के पावन परिसर में अत्यंत पुण्यप्रद मारुति योग में श्रीरामकथा का आयोजन 11 अप्रेल से 19 अप्रेल पर्यन्त किया गया है, जिसमें सुप्रसिद्ध मानस मर्मज्ञ पूज्य श्री अतुलकृष्‍णजी महाराज द्वारा श्रीरामकथा की अमृत वर्षा होगी ।

प्रथम दिवस 11 अप्रेल को प्रातः 7 बजे विश्राम घाट से यमुना-पूजन उपरांत भव्य शोभा यात्रा आरंभ होगी जिसमें लगभग 1000 से भी अधिक माता-बहिनें मंगल-कलश धारण कर सम्मिलित होंगी ।
श्रीरामकथा के मध्य अनेक साधु-संतों व विशिष्‍टजन का मार्गदर्शन सभी को प्राप्त होगा ।

पत्रकार वार्ता में आयोजन समिति के संरक्षक डा. चन्द्रभान गुप्त, डा. रोशनलाल, अध्यक्ष कन्हैयालाल बजाज, उपाध्यक्ष व हिन्दूवादी नेता गोपेश्‍वरनाथ चतुर्वेदी, बांकेलाल अग्रवाल टैंट वाले, मंत्री महावीर मित्तल, मुख्य संयोजक कैलाशचन्द्र अग्रवाल, कोषाध्यक्ष ओमप्रकाश बंसल, कथा के मुख्य यजमान अनिल अग्रवाल प्रेस वाले, संयोजक विजय बहादुर सिंह व सर्व व्यवस्था प्रमुख डा. संजय अग्रवाल की उपस्थिति उल्लेखनीय रही ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *