श्रीनगर: तहरीक ए हुर्रियत के चेयरमैन का बेटा मुठभेड़ में ढेर

श्रीनगर के कानेमजार नवाकदल इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में जुनैद सहराई और पुलवामा निवासी तारिक अहमद शेख मारा गया है। 29 वर्षीय जुनैद सहराई सैयद अली शाह गिलानी के बाद तहरीक ए हुर्रियत के चेयरमैन बने मोहम्मद अशरफ सहराई का बेटा था। साल 2018 के मार्च महीने में जुमे की नमाज के बाद जुनैद लापता हो गया था। इसके बाद वह आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के साथ जुड़ गया था। जुनैद कश्मीर यूनिवर्सिटी से एमबीए की पढ़ाई पूरी कर मार्च 2018 में हिजबुल में शामिल हो गया था। यह काफी दिनों से सुरक्षा एजेंसियों की रडार पर था। वहीं इस मुठभेड़ को लेकर जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि सोमवार रात श्रीनगर में पुलिस के एक विश्वसनीय सूत्र से जानकारी मिलने पर सर्च ऑपरेशन चलाया गया।
रात में आतंकियों से सुरक्षाबलों का सामना हुआ था। इस दौरान आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग की। इसके बाद जवानों ने भी मोर्चा संभाला। थोड़ी देर बाद फायरिंग रुक गई। सुबह फिर से फायरिंग शुरू हुई। कई घंटों तक चली इस मुठभेड़ में जुनैद सहराई समेत दो आतंकी मारे गए हैं। रियाज नायकू के बाद ताहिर मोहम्मद भट और अब आतंकी जुनैद का मारा जाना हिजबुल को बड़ा झटका है। इसी के साथ हिजबुल अब सफाए की कगार पर है। वहीं सुरक्षाबलों की ओर से इस ऑपरेशन को बहुत सावधानी से अंजाम दिया। क्योंकि जहां मुठभेड़ हुई वह घनी आबादी वाला आवासीय क्षेत्र था। मुठभेड़ स्थल के इर्द-गिर्द वाले सभी रास्तों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया था। इतना ही नहीं मुठभेड़ को लेकर कोई अफवाह न फैल इसके मद्देनजर प्रशासन ने श्रीनगर में मोबाइल इंटरनेट सेवा अस्थायी रूप से बंद कर दी। करीब दो साल बाद श्रीनगर में यह मुठभेड़ हुई।

-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *