रामदेव की पतंजलि को टक्‍कर देने उतरी श्री श्री आयुर्वेद

जहां एक तरफ बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद एफएमसीजी सेक्टर में एमएनसी कंपनियों को टक्कर देने का प्लान कर रही है, वहीं दूसरी तरफ आर्ट ऑफ लीविंग के संस्थापक श्री श्री रविशंकर की कंपनी ‘श्री श्री आयुर्वेद’ ने भी पूरी तरह से मोर्चा खोल दिया है।
श्री श्री आयुर्वेद भी 200 करोड़ का निवेश करने जा रही है। यह निवेश कंपनी विज्ञापन और प्रमोशन में करेगी। इसमें टीवी, प्रिंट, डिजिटल, आउटडोर और अन्य तरह के प्रमोशन शामिल हैं।
आईपीएल में किया था 10 करोड़ रुपये खर्च
बंगलूरू स्थित इस कंपनी ने आईपीएल के 11वें सीजन में केवल टीवी पर दिए जाने वाले विज्ञापनों पर 10 करोड़ रुपये खर्च किए थे। श्री श्री आयुर्वेद ट्रस्ट के सीईओ तेज कटपिटिया ने कहा कि कंपनी देश भर में 1000 से अधिक ब्रांडेड स्टोर्स खोलने की तैयारी में है।
इन उत्पादों का होगा प्रचार
कंपनी जिन उत्पादों का ज्यादा से ज्यादा प्रचार करेगी उनमें टूथपेस्ट, किराने का सामान और पर्सनल केयर के उत्पाद शामिल हैं। अभी देश भर में पर्सनल केयर मार्केट 18500 करोड़ रुपये का है। कंपनी फेस वॉश, क्रीम और लोशन, शैम्पू, घी, चावल, नारियल तेल व गुड़ पर अपना ज्यादा फोकस करेगी।
एमएनसी कंपनियों ने भी लांच किए अपने देशी प्रॉडक्ट
बाबा रामदेव की कंपनी पतंजलि आयुर्वेद से टक्कर लेने के लिए बहुराष्ट्रीय कंपनियों जैसे कि हिंदुस्तान यूनीलीवर, कोलगेट, फ्यूचर ग्रुप, डाबर आदि ने भी अपने आयुर्वेद आधारित उत्पाद लांच कर दिए हैं। पतंजलि हर साल करीब 10 हजार करोड़ के उत्पाद बेचती है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »