श्रीलंका: भारत विरोधी प्रदर्शन करने पर पूर्व राष्‍ट्रपति का बेटा गिरफ्तार

कोलंबो। श्रीलंका के पूर्व राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे के बड़े बेटे समेत दो सांसदों को हंबनटोटा में भारतीय महावाणिज्य दूतावास के बाहर प्रदर्शन करने पर गिरफ्तार किया गया है। ये लोग एक हवाईअड्डे का प्रस्तावित पट्टा भारतीय कंपनी को दिए जाने के विरोध में प्रदर्शन कर रहे थे। संयुक्त विपक्ष के सदस्यों ने हंबनटोटा के मत्ताला महिंदा राजपक्षे अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डे (एमआरआईए) को श्रीलंका सरकार द्वारा भारत को सौंपे जाने वाले समझौते के खिलाफ प्रदर्शन किया।
राजपक्षे के राष्ट्रपति रहने के दौरान प्रमुख परियोजनाओं में इस हवाईअड्डे का निर्माण भी शामिल था, जिसके लिए चीन ने लोन दिया था। पुलिस ने बताया कि प्रदर्शन में हुई हिंसा पर बयान दर्ज कराने के लिए मंगलवार रात हंबनटोटा पुलिस ने नमल राजपक्षे और छह अन्य प्रदर्शनकारियों को तलब किया था।
इन लोगों पर सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाने, अवैध तरीके से सभा करने और हंबनटोटा न्यायिक क्षेत्र में प्रदर्शन न करने के अदालत के आदेश का उल्लंघन करने के आरोप लगाए गए हैं। पुलिस ने बताया कि इन सभी को हंबनटोटा मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया जहां से उन्हें 16 अक्टूबर तक के लिए तंगले रिमांड जेल भेज दिया गया।
पुलिस ने बताया कि शुक्रवार के बाद से इस मामले में अब तक 40 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। इंडियन एयरपोर्ट डील पर संसद में चर्चा के दौरान सोमवार को नमल ने आरोप लगाया था कि इंटरनेशनल पावर गेम के लिए सरकार श्रीलंका को प्लेग्राउंड बना रही है। उनका इशारा चीन और भारत दोनों की ओर था। चीन को हंबनटोटा सी पोर्ट पर ऑपरेशंस की जिम्मेदारी दी गई है जबकि भारतीय कंपनी को एयरपोर्ट की जिम्मेदारी सौंपी गई है।
-एजेंसी