आरोप मुक्‍त होने के बाद रणजी खेलने को बेकरार हैं श्रीसंत

नई दिल्‍ली। आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग के कारण 7 साल का बैन झेल रहे श्रीसंत अगले साल का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। साल 2013 में स्पॉट फिक्सिंग में फंसने के बाद श्रीसंत पर आजीवन प्रतिबंध लगाया गया था। लेकिन हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने इस तेज गेंदबाज को राहत देते हुए उनके क्रिकेट खेलने पर लगे आजीवन प्रतिबंध को कम कर 7 साल कर दिया। केरला के इस तेज गेंदबाज का यह बैन अगले साल खत्म होने वाला है और वह एक बार फिर केरल के रणजी ट्रोफी खेलने के लिए बेकरार हैं।
भारत की दो वर्ल्ड कप विजेता (2007 में T20 और 2011 में वनडे वर्ल्ड कप) टीम का हिस्सा रहे श्रीसंत आईपीएल में विवादों में भी खूब रहे। हरभजनसिंह के साथ थप्पड़ कांड हो या फिर आईपीएल मैच में स्पॉट फिक्सिंग। इस टी20 लीग में दाएं हाथ का यह फास्ट बोलर अपने खेल से ज्यादा विवादों के चलते ही सुर्खियों में रहे।
इतना ही नहीं, हाल ही में टीम इंडिया के पूर्व मेंटल कंडिशनिंग और स्ट्रैटिजिक लीडरशिप कोच और राजस्थान रॉयल्स के मुख्य कोच रहे पैडी अपटन की ऑटोबायोग्राफी में विवादित जिक्र के चलते श्रीसंत एक बार फिर सुर्खियों में आ छा गए। पैडी ने अपनी ऑटोबायोग्राफी ‘द बेयरफुट कोच’ में श्रीसंत की भी चर्चा की है। पैडी ने श्रीसंत के साथ हुई घटना पर लिखा कि जब पैडी राजस्थान रॉयल्स की टीम के हेड कोच थे, तो श्रीसंत भी उस टीम का हिस्सा था और राहुल द्रविड़ की कप्तानी में रॉयल्स की टीम उस सीजन में खेल रही थी।
यहां टीम का एक मैच चेन्नै सुपरकिंग्स के खिलाफ था, जिसमें श्रीसंत को हम टीम से बाहर रख रहे थे। इस पर श्रीसंत इतना नाराज हो गए कि उन्होंने उस मैच में उन्हें खिलाने के लिए मुझसे और द्रविड़ से खूब जिद की लेकिन जब वह टीम में शामिल नहीं हुए तो उन्होंने इसे लेकर पैडी और द्रविड़ से लड़ाई की।
पैडी ने अपनी पुस्तक में लिखा कि स्पॉट फिक्सिंग प्रकरण में जब श्रीसंत फंसे तो उन्हें समझ में आया कि वह उस मैच में खेलने को लेकर इतना उत्सुक क्यों थे और क्यों वह बार-बार प्लेइंग इलेवन में आने की जिद कर रहे थे। दरअसल, वह अपने प्रदर्शन के लिए नहीं बल्कि इस मैच के लिए की गई अपनी फिक्सिंग को अंजाम देना चाहते थे।
हाल ही में एक अखबार को दिए इंटरव्यू में श्रीसंत ने इस मुद्दे पर सफाई दी है। उन्होंने कहा कि मैं पैडी से पूछना चाहता हूं कि मैंने उनसे आईपीएल या भारतीय टीम में रहने के दौरान लड़ाई कब की है? मैं दिग्गज खिलाड़ी राहुल द्रविड़, जिन्हें मैं बहुत सम्मान और प्यार करता हूं उनसे पूछना चाहता हूं क्या कभी मैं उनसे लड़ा हूं? मैंने अपटन को कब गाली दी, जैसा उन्होंने अपनी किताब में लिखा है।
श्रीसंत ने कहा, ‘मैंने बहुत बार अपटन से गुजारिश की थी कि मुझे उस मैच में खेलने दें- वह सिर्फ इसलिए कि CSK के खिलाफ मेरा इतिहास (रेकॉर्ड) बेहतर था और मैं उन्हें दोबारा हराना चाहता था लेकिन उन्होंने इसका कुछ और ही मतलब निकाल लिया और यह कह दिया कि फिक्सिंग के चलते यह मैच खेलना चाहता था। हर कोई जानता है कि मैं सीएसके से कितनी नफरत करता हूं, मुझे इसमें कुछ कहने की जरूरत नहीं है।’
इस इंटरव्यू में श्रीसंत ने आगे कहा, ‘लोग ऐसा भी कह सकते हैं कि मैं एमएस धोनी और एन. श्रीनिवासन सर के चलते सीएसके से नफरत करता हूं लेकिन यह सच नहीं है। मैं बस पीले रंग से नफरत करता हूं। इसी कारण से मैं ऑस्ट्रेलिया से भी नफरत करता हूं। इससे भी ज्यादा जरूरी यह है कि मैंने सीएसके के खिलाफ बहुत शानदार प्रदर्शन किया है और इसलिए ही मैं तब वह मैच खेलना चाहता था।’
श्रीसंत ने कहा, ‘मुझ पर यह आरोप लगाना कि मैंने दो लोगों को गाली दी थी यह बहुत निराश करने वाला है। यह पुलिस द्वारा टॉर्चर करने से भी ज्यादा दुखदायी है। ये चीजें दुख देती हैं। दूसरे खिलाड़ी भी अपटन के बारे बात करते हैं कि ये कौन है बे, कर्टसन सब कुछ करते हैं।’ क्या मैंने उनके साथ कभी कोई ऐसा व्यवहार किया।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *