राजीव इंटरनेशनल स्कूल में Sports week का समापन

मथुरा। Rajiv International School में आज Sports week का समापन हो गया। एक सप्ताह तक चले विभिन्न खेलों के विजेता छात्र-छात्राओं को सम्मानित कर खेलकूद स्पर्धा सप्ताह का समापन किया गया।

Sports week  के समापन पर मुख्य अतिथि के. आर.पीजी काॅलेज के असिस्टेंट प्रोफेसर डाॅ. दलवीर सिंह ने विजेता छात्र-छात्राओं को स्वर्ण, रजत तथा कांस्य पदक प्रदान करते हुए कहा क‍ि वह पढ़ाई के साथ-साथ प्रतिदिन खेलों में भी सहभागिता करें। उन्होंने कहा कि खेलों से तन ही नहीं मन भी स्वस्थ रहता है। कार्यक्रम का शुभारम्भ मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण और दीप प्रज्वलित कर किया गया।

राजीव इंटरनेशनल स्कूल में आयोजित खेलकूद स्पर्धा सप्ताह के अंतिम दिन शनिवार को विभिन्न दौड़ प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। इसमें विजेता छात्र-छात्राओं को मुख्य अतिथि द्वारा स्वर्ण, रजत एवं कांस्य पदक सहित प्रशस्ति पत्र प्रदान किए गए। डाॅ. दलवीर सिंह ने छात्र-छात्राओं के प्रयास की सराहना करते हुए भविष्य में उन्हें अच्छे एथलीट बनने की शुभकामनाएं दीं।

आर. के. एजुकेशन हब के अध्यक्ष डाॅ. रामकिशोर अग्रवाल ने अपने संदेश में बच्चों के मानसिक स्वास्थ्य के साथ-साथ शारीरिक स्वास्थ्य के लिए खेलों को शिक्षा का अभिन्न अंग बताया और कहा कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए शरीर का स्वस्थ होना जरूरी है।

चेयरमैन मनोज अग्रवाल ने बच्चों की खेल क्षमता को देखते हुए कहा कि प्रत्येक बच्चे में कौशल है, जरूरत उसे निखारने की है। श्री अग्रवाल ने कहा कि स्कूल ही ऐसा माध्यम है, जो उन्हें खेलों के अवसर प्रदान कर सकता है। उन्होंने कहा कि आज छात्र-छात्राएं पढ़ाई के साथ-साथ खेलों में भी अपना करियर बना सकते हैं। श्री अग्रवाल ने विजेता तथा उपविजेता छात्र-छात्राओं को बधाई देते हुए प्रतियोगिता में सहभागिता करने वाले प्रत्येक बच्चे की भी सराहना की।

स्कूल के प्रधानाचार्य शैलेन्द्र सिंह ग्रेवाल ने खेलों में शिरकत करने वाले छात्र-छात्राओं को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि खेलों के माध्यम से शिक्षा को रुचिकर बनाया जा सकता है। राजीव इंटरनेशनल स्कूल ऐसी शिक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। हम अपने स्कूल में खेलों से संबंधित प्रतियोगिताएं आयोजित करते रहेंगे ताकि यहां से प्रदेश और देश का नाम रोशन करने वाले खिलाड़ी निकल सकें। प्रधानाचार्य शैलेन्द्र सिंह ग्रेवाल ने मुख्य अतिथि को स्मृति चिह्न भेंट कर उनका आभार माना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *