अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने पहली बार खोज निकाला एलियन प्लेनेट

अंतरिक्ष वैज्ञानिकों ने पहली बार एलियन प्लेनेट की खोज की है। यह प्लेनेट घने गैस और धूल के कणों से भरा हुआ है। वैज्ञानिकों ने बताया कि यह प्लेनेट एबी ऑरिजे नाम के एक तारे के चारों ओर बन रहा है। एबी ऑरिजे का द्रव्यमान हमारे सूर्य से 2.4 गुना ज्यादा है। यह प्लेनेट धरती से 520 प्रकाशवर्ष की दूरी पर स्थित है।
यूरोपीय साउथर्न ऑब्जरवेटरी के टेलिस्कोप से खोजा गया
इस प्लेनेट को चिली में स्थित यूरोपीय साउथर्न ऑब्जरवेटरी के वेरी लॉर्ज टेलिस्कोप से पहली बार देखा गया। वैज्ञानिकों ने टेलीस्कोप का उपयोग एक ग्रह की उपस्थिति से उत्पन्न एबी ऑरिगे के चारों ओर घूमती हुई डिस्क के भीतर एक सर्पिल संरचना को देखने के लिए किया। उन्होंने सर्पिल संरचना में गैस और धूल के एक पैटर्न का पता लगाया।
जन्म के समय का पता नहीं
पेरिस के अंतरिक्ष वैज्ञानिक एंथनी बोक्लेडेटी ने कहा कि एक ग्रह को अपना पूरा रूप लेने में कई मिलियन साल का समय लगता है इसलिए उसके जन्म के समय को परिभाषित करना कठिन है। यह ग्रह सूर्य से पृथ्वी की दूरी के लगभग 30 गुना अधिक दूर स्थित है।
बृहस्पति से भी बड़ा है आकार
उन्होंने कहा कि यह एक बड़ा गैसीय प्लेनेट प्रतीत हो रहा है। जो पृथ्वी या मंगल जैसा चट्टानी ग्रह जैसा नहीं होगा। उन्होंने कहा कि यह एलियन प्लेनेच हमारे सौर मंडल के सबसे बड़े ग्रह बृहस्पति से भी बड़ा हो सकता है।
निर्माण की गुत्थी सुलझाने में जुटे वैज्ञानिक
अब तक हमारे सौर मंडल के अलावा तारों की परिक्रमा करते हुए 4,000 से अधिक ग्रहों की खोज की गई है। वैज्ञानिक इस बारे में और जानने का प्रयास कर रहे हैं कि वे नए तारों के आसपास बने इन डिस्क में ठंडी गैस और धूल से कैसे पैदा होते हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *