PF घोटाले के आरोपियों और उनके परिजनों की संपत्ति का ब्योरा तलब

लखनऊ। बिजली कर्मचारियों के करोड़ों रुपये के PF घोटाले के मुख्य आरोपी यूपीपीसीए के तत्कालीन एमडी एपी मिश्र, निदेशक (वित्त) सुधांशु द्विवेदी और ट्रस्ट के सचिव रहे पीके गुप्ता की लखनऊ स्थित संपत्तियों का विजिलेंस ने ब्योरा मांगा है।
विजिलेंस ने लखनऊ नगर निगम से तीनों आरोपियों के साथ उनके परिवार और रिश्तेदारों की भी संपत्तियों का ब्योरा देने को कहा है।
उत्तर प्रदेश सतर्कता अधिष्ठान के सीआई सेक्टर के एएसपी की तरफ से लखनऊ के नगर आयुक्त को इस संबंध में पत्र भेजा गया है। इसमें एएसपी ने एपी मिश्र की अलीगंज के सेक्टर जे स्थित बी1/41, गोखले मार्ग स्थित आकाश अपार्टमेंट में फ्लैट, अलीगंज की चंद्रलोक कॉलोनी में प्लॉट, गोमतीनगर के विनम्रखंड में प्लॉट और मकान होने की बात कही है।
विजिलेंस ने नगर आयुक्त से इन संपत्तियों के साथ एपी मिश्र और उनके करीबियों की लखनऊ स्थित अन्य संपत्तियों का ब्योरा भी मांगा है। विजिलेंस ने एपी मिश्र, उनकी पत्नी रानी मिश्र, बेटे विपुल मिश्र, बेटी सांत्वना मिश्र, ‌विपुल की पत्नी श्वेता मिश्र, भाई गंगा प्रसाद, राम प्रसाद, सुरेंद्र मोहन मिश्र और उत्कर्ष मोहन मिश्र की संपत्तियों का ब्योरा देने को भी कहा है।
बैनामी संपत्ति से जुड़े कागजात मांगे
सुधांशु द्विवेदी, उनकी पत्नी रेनू, बेटे सिद्धार्थ व चैतन्य और बहू स्नेहा द्विवेदी की संपत्तियों का ब्योरा भी मांगा गया है। इसमें उनके विकास नगर स्थित घर का जिक्र है। इसके अलावा लखनऊ क्षेत्र में उनके प्लॉट, मकान और खेती वाली जमीनों के बारे में बताने को भी कहा गया है।
लखनऊ स्थिति संपत्तियों के बारे में पूछा
अलीगंज के चंद्रलोक स्थित हाइडिल ऑफिसर्स कॉलोनी में रहने वाले तत्कालीन ट्रस्ट सचिव पीके गुप्ता, उनकी पत्नी अंजू गुप्ता, बेटे अभिनव गुप्ता और बेटी अनुभूति गुप्ता की लखनऊ स्थित संपत्तियों के बारे में भी पूछा गया है। विजिलेंस के एएसपी ने नगर आयुक्त से इन तीनों की संपत्तियों, बैनामे से जुड़े कागजात व अन्य दस्तावेज जल्द से जल्द उपलब्ध करवाने के लिए कहा है, ताकि सरकार को जल्द से जल्द जांच कर रिपोर्ट दी जा सके।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *