सोनिया बोलीं, संघ से लड़ने के लिए विपक्षी पार्टियों को महत्वाकांक्षाएं त्‍यागनी होंगी

नई दिल्‍ली। कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक के बाद यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा कि संघ की संगठनात्मक शक्ति और धनबल से लड़ने के लिए विपक्षी पार्टियों को रणनीति के तहत गठबंधन बनाना होगा और उन्हें महत्वाकांक्षाएं दूर रखनी होंगी। कांग्रेस ने वर्किंग कमेटी (CWC) की बैठक में लोकसभा-2019 के लिए 300 सीटों पर जीत की रणनीति बनाई है लेकिन बाकी दलों से यह सुनिश्चित करने को कहा है कि गठबंधन में राहुल गांधी ही नेता रहें। यानि कि गठबंधन का चेहरा राहुल होंगे।
पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस को जुल्म सह रहे लोगों के लिए लड़ना होगा।
राहुल ने कहा कि कांग्रेस कार्यसमिति अतीत, वर्तमान और भविष्य के बीच पुल की तरह काम करती है। पार्टी के नेताओं को देश में पिछड़ों के लिए काम करना होगा। कांग्रेस में अनुभव और ऊर्जा दोनों है। चिदंबरम ने कहा, “कांग्रेस 12 राज्यों में मजबूत स्थिति में है। अगले लोकसभा चुनाव में हमें 150 सीटें मिल सकती हैं। बाकी राज्यों में कांग्रेस को स्थानीय पार्टियों पर निर्भर रहना होगा।”
लोग खतरे में हैं- यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा, “नरेंद्र मोदी का शासन खतरनाक है, देश को लोगों को इससे बचाना है। लोकतंत्र का मजाक उड़ाया जा रहा है। लोग डर के साये में जी रहे हैं और देश में गरीबी बढ़ रही है। मोदी सरकार की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। हम गठबंधन बनाने को लेकर प्रतिबद्ध हैं और पूरी कांग्रेस पार्टी राहुल गांधी का साथ देने के लिए तैयार है।”
हम जुमलों की राजनीति में यकीन नहीं करते: मनमोहन
पू्र्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा, “मैं राहुलजी को भरोसा दिलाता हूं कि भारत में सामाजिक सौहार्द्र और आर्थिक विकास कायम करने के लिए पूरी पार्टी उनके साथ है। कांग्रेस कभी खुद को बढ़ा-चढ़ाकर पेश करने और जुमलों की राजनीति में यकीन नहीं करती। हमारा विश्वास ऐसी योजना तैयार करने में है, जिससे विकास को आगे ले जाया जा सके। दावा किया जा रहा है कि 2022 तक कृषि आय को दोगुना कर दिया जाएगा। इसके लिए 14% की कृषि वृद्धि दर की जरूरत होगी, जो कहीं भी दिखाई नहीं देती।”
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »